भारत पर लगाए कनाडा के आरोपों पर इंडिया वर्ल्ड फोरम ने की कड़ी निंदा, दिया ये कड़ा जवाब

Advertisement

भारत और कनाडा के बीच तनातनी, इंडिया वर्ल्ड फोरम ने की कड़ी निंदा।- India TV Hindi

प्रियंका कुमारी (संवाददाता)

कनाडा और भारत के बीच संबंध तनावपूर्ण हैं। इसी बीच भारत की आवाज माने जाने वाले इंडियन वर्ल्ड फोरम ने प्रेस बयान जारी करते हुए कहा, ‘इंडियन वर्ल्ड फोरम कनाडा में भारतीय प्रवासियों का पीछा करने और उन पर हिंसा करने के लिए सिख फॉर जस्टिस सहित गैरकानूनी संगठनों की असामाजिक गतिविधियों की कड़ी निंदा करता है। इंडियन वर्ल्ड फोरम इस मामले में कनाडा सरकार से इस पर गंभीरता से विचार करने और कार्रवाई करने का आग्रह करता है।’

अर्शदीप सिंह ढल्ला और गुरपतवंत सिंह पन्नू (दोनों भारत द्वारा नामित आतंकवादी) सहित नापाक तत्वों द्वारा कनाडा की जमीन से नापाक हरकतें की जा रही है। भारतीय प्रवासियों और कनाडा में उनके निवेश के लिए खतरा पैदा करने का कोई भी प्रयास संयुक्त राष्ट्र चार्टर की पवित्रता का उल्लंघन होगा। इंडियन वर्ल्ड फोरम ने आगे कहा कि ‘भारत में हम अपने कनाडाई भाइयों की गर्मजोशी से मेजबानी करते हैं और हमारी संस्कृति भारत में कनाडाई प्रवासियों की भलाई सुनिश्चित करती है।’

‘कनाडा की यात्रा करने वाले सावधानी बरतें’

इसी बीच भारत और कनाडा के बीच तनातनी जारी है। कनाडा ने पहले भारतीय राजनयिक को निष्कासित किया। इसके जवाब में भारत ने भी कनाडा के राजनयिक को निष्कासित कर दिया था। गौरतलब है कि भारत ने कनाडा में रहने वाले भारतीय नागरिकों और छात्रों के लिए एडवाइजरी जारी की है। इसमें कनाडा में मौजूद सभी भारतीय नागरिक और यात्रा पर विचार करने वाले लोगों को अत्यधिक सावधानी बरतने की बात कही गई है।

भारत ने कहा है कि हाल ही में भारतीय राजनयिकों और भारतीय समुदाय के लोगों को टारगेट किया गया है, जो भारत विरोधी एजेंडे का विरोध करते हैं। इसलिए भारतीय नागरिकों को सलाह दी जाती है कि वे कनाडा के उन क्षेत्रों और संभावित स्थानों की यात्रा करने से बचें, जहां ऐसी घटनाएं देखी गई हैं। भारत के विदेश मंत्रालय ने ये स्टेटमेंट जारी किया है।

कनाडा ने भी जारी की है एडवाइजरी

इससे पहले कनाडा की सरकार ने भी अपने नागरिकों के लिए एक ट्रैवल एडवाइजरी जारी की थी। इस एडवाइजरी में कनाडा ने भारत की यात्रा करने वाले या फिर भारत में रह रहे अपने नागरिकों से जम्मू-कश्मीर और नॉर्थ ईस्ट नहीं जाने को कहा था। कनाडा ने अपने नागरिकों को सलाह दी थी कि अप्रत्याशित सुरक्षा हालात के कारण केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर की यात्रा करने से बचें।

क्या कहा था ट्रूडो ने जिसके बाद बढ़ी तनातनी

दरअसल कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने सोमवार को संसद के निचले सदन हाउस ऑफ कॉमंस में अपने संबोधन में कहा था कि कनाडा के नागरिक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में भारत सरकार के एजेंट की संलिप्तता के पुख्ता आरोपों की कनाडा की सुरक्षा एजेंसियां पूरी सक्रियता से जांच कर रही हैं। हालांकि ट्रूडो के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए भारत ने मंगलवार को इन्हें बेतुका और बेबुनियाद करार दिया।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer