कनाडा के एक नागरिक को इस्लामिक स्टेट समूह में शामिल होने में मदद करने के मामले में 20

Advertisement

Return From ISIS: American Women Want Out Of Extremism | On Point

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता)

सैन डिएगो (अमेरिका), 18 अक्टूबर अमेरिका के दक्षिणी कैलिफोर्निया में रहने वाले
कनाडा के एक नागरिक को 2013 व 2014 में कई कनाडाई और अमेरिकियों को सीरिया में
इस्लामिक स्टेट समूह में शामिल होने में मदद करने के मामले में 20 साल की सजा सुनाई गई है।

अमेरिकी अटॉर्नी रैंडी ग्रोसमैन ने सोमवार को एक बयान में बताया कि अब्दुल्लाही अहमद अब्दुल्लाही
ने सीरिया में लोगों के अपहरण और हत्या सहित ‘‘आतंकवाद के हिंसक कृत्यों’’ के लिए सीधे तौर पर
धन मुहैया करवाया।
अब्दुल्लाही ने ‘प्ली एग्रीमेंट’ में स्वीकार किया कि उसने सैन डिएगो के निवासी डगलस मैकऑथर
मैक्केन को आईएस में शामिल होने में मदद की थी। मैक्केन सीरिया में 2014 में सीरियाई विपक्षी
बलों के खिलाफ आईएस लड़ाकों के साथ लड़ते हुए मारा गया था। ‘प्ली एग्रीमेंट’ अभियोजन और
बचाव पक्ष के बीच समझौता होता है।
अभियोजक ने बताया कि अब्दुल्लाही ने मिनियापोलिस के अपने 18 वर्षीय एक रिश्तेदार और कनाडा
के एडमोंटन के रहने वाले अपने तीन रिश्तेदारों को सीरिया में आईएस में शामिल कराने लिए पैसे
दिए थे। अमेरिकी सरकार के अनुसार, ये सभी लोग मारे गए हैं।
अब्दुल्लाही को कनाडा के अधिकारियों ने 2017 में हिरासत में लिया था और दो साल बाद उसे
अमेरिका प्रत्यर्पित कर दिया गया था। उसने 2021 में आतंकवादियों की मदद की बात स्वीकार कर
ली थी। उसने जनवरी 2014 में एक ‘एडमोंटन ज्वेलरी स्टोर’ को लूटने की बात भी स्वीकार की थी।
उसने यह लूट आईएस को धन मुहैया कराने के लिए की थी। लूट का अंजाम देने के कुछ सप्ताह
बात अब्दुल्लाही ने सीरिया में मैक्केन को पैसे भी भेजे थे।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer