ITC अपने होटल करोबार को अलग करेगी, छोटे शेयरधारकों को होगा बड़ा फायदा, जानें कैसे

ITC Grand Bharat- India TV Paisa

प्रियंका कुमारी(संवाददाता)

ITC समूह अपना होटल कारोबार अलग करने जा रही है। कंपनी ने  शेयरधारकों से मंजूरी लेने के लिए बैठक बुलाई है। एक रिपोर्ट के अनुसार, ITC के इस कदम से छोटे शेयरधारकों को फायदा होगा। इसकी वजह यह है कि होटल कारोबार अलग करने से आईटीसी समूह का मार्केट कैप बढ़ेगा और मुनाफा में वृद्धि होगी। ऐसा होने से इसका फायदा कंपनी में निवेश किए हुए छोटे शेयरधारकों को होगा। कंपनी के प्रस्तावों पर संस्थागत निवेशकों या शेयरधारकों को सलाह देने वाली ‘प्रॉक्सी’ परामर्श कंपनियों ने यह कहा है। यह रिपोर्ट इनगवर्न रिसर्च सर्विसेज, आईएसएस और एसईएस सहित प्रॉक्सी परामर्श कंपनियों ने जारी की है।

 

शेयरहोल्डर्स के साथ 6 जून को बैठक 

यह रिपोर्ट ऐसे समय आयी है जब कारोबार अलग करने के प्रस्ताव पर विचार करने और मंजूरी देने के लिए आईटीसी के शेयरधारकों की छह जून को बैठक होने वाली है। शेयरधारकों को परामर्श देने वाली कंपनी आईएसएस के अनुसार, होटल कारोबार को अलग करने से उसके शेयरधारकों के लिए मूल्य बढ़ने की उम्मीद है और आईटीसी के रिटर्न अनुपात में सुधार हो सकता है। रिपोर्ट में कहा गया है, यह व्यवस्था आईटीसी होटल को अपनी विकास आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए पूंजी जुटाने की क्षमता के साथ एक अनुकूलतम पूंजी संरचना के साथ काम करने में सक्षम बनाएगी। आईएसएस ने अपनी रिपोर्ट में कहा, ‘यह निवेशकों, रणनीतिक साझेदारों और सहयोगियों के समूह को आकर्षित कर सकता है जिनकी निवेश रणनीति होटल उद्योग से जुड़ी हुई हैं।’

होटल इकाई में एक शेयर मिलेगा

आईटीसी निदेशक मंडल ने पिछले साल अगस्त में अपने होटल कारोबार को अलग इकाई बनाने की मंजूरी दी थी। आईटीसी के शेयरधारकों को कंपनी में उनके प्रत्येक 10 शेयरों के लिए जल्द ही सूचीबद्ध होने वाली होटल इकाई में एक शेयर मिलेगा। एक अन्य परामर्श कंपनी इनगवर्न ने होटल कारोबार के लाभ के बारे में कहा कि मौजूदा आईटीसी शेयरधारकों को सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाली होटल इकाई में सीधी हिस्सेदारी प्राप्त होगी। वे पूरी तरह से होटल कारोबार पर केंद्रित एक विशेष कंपनी के शेयरधारक बन जाएंगे। इसमें कहा गया है कि यह कदम वृद्धि को बढ़ावा देने, होटल क्षेत्र में निरंतर रुचि सुनिश्चित करने और भविष्य में संभावित जबरिया अधिग्रहण से बचाने की आईटीसी की कॉरपोरेट रणनीति के अनुरूप है।

दोनों कंपनियों के लिए फायदेमंद होगा

रिपोर्ट के अनुसार, ‘इस प्रस्ताव के तहत जिस तरीके से स्पष्ट रूप से शेयरों की अदला-बदली होगी, उसे देखते हुए, यह छोटे शेयरधारकों के साथ-साथ दोनों कंपनियों की वृद्धि के लिए फायदेमंद है। हम शेयरधारकों को प्रस्ताव के पक्ष में मतदान की सलाह देते हैं।’ एक अन्य परामर्श कंपनी ग्लास लुईस ने भी आईटीसी समूह से होटल कारोबार को अलग करने के प्रस्ताव का समर्थन किया है। हालांकि, इंस्टिट्यूशनल इन्वेस्टर एडवाइजरी सर्विसेज (आईआईएएस) ने आईटीसी लि.के शेयरधारकों को होटल कारोबार को अलग करने के खिलाफ मतदान करने का सुझाव दिया है। उसका कहना है कि यह शेयरधारकों के लिए पूर्ण रूप से मूल्य नहीं खोलता है।

Leave a Comment