Hanuman Temple: हनुमान जी के 5 प्रसिद्ध सिद्धपीठ मंदिर, यहां दर्शन करने से बन जाते हैं सारे बिगड़े काम

Advertisement

Hanuman Temple- India TV Hindi

प्रियंका कुमारी(संवाददाता) 

कलयुग में हनुमान जी की पूजा करना सबसे लाभकारी बताया गया है। उनकी पूजा से जीवन में चल रही सारी विपत्तियां नष्ट हो जाती हैं। जो भक्त एकबार हनुमान जी की शरण में आ जाते हैं उनका बेड़ा हनुमत लला पार कर देते हैं। मंगलवार के दिन बजरंगबली की उपासना करने से सारे कष्ट मिट जाते हैं।

उनकी महिमा इतनी निराली है कि कलयुग में सबसे ज्यादा लोग उनकी उपासना करते हैं। माना जाता है वर्तमान में चल रहे युग के सारे कष्ट सिर्फ संकट मोचन की शरण में आने से मिट जाते हैं। आज हम आपको बजरंगबली के उन 5 प्रसिद्ध मंदिरों के बारे में बताने जा रहे हैं। जहां दर्शन करने से हनुमान जी का आशीर्वाद मिलता है और सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं।

हनुमान जी के 5 प्रसिद्ध मंदिर

  1. हनुमान गढ़ी (अयोध्या) – अयोध्या हनुमान गढ़ी मंदिर भगवान राम की नगरी में है। यह हनुमान जी के प्रमुख मंदिरों में सबसे लोकप्रिय है। मान्यता है कि इस मंदिर में हनुमान जी बाल रूप में विराजमान हैं और मां अंजनी जी की गोद में बैठे हैं। यह भी माना जाता है कि हनुमान जी का ये सिद्धपीठ स्थान है और भगवान राम ने उन्हें यह स्थान सौंप दिया था। यह उत्तर प्रदेश राज्य के अयोध्या जिले में स्थित है जो भगवान राम का पावन धाम है। लोगों कि आस्था है जो भक्त यहां हनुमान जी के दर्शन कर लेते हैं। उनके सारे बिगड़े काम हनुमान जी बना देते हैं।
  2. सालासर बाला जी – यह मंदिर हनुमान जी के प्रमुख मंदिरों में से एक हैं। यह मंदिर राजस्थान के चुरू जिले में पड़ता है। मंगलवार के दिन यहां भक्तों की भीड़ उनके दर्शन के लिए लगती है। मान्यता है कि मंदिर में जो भी दर्शन पूजन के लिए आते हैं सालासर बाला जी उनकी सभी मुरादे पूरी करते हैं। उनके दर्शन करने से जीवन के दुःख-दर्द और सभी रोग मिट जाते हैं।
  3. संकट मोचन हनुमान मंदिर (वाराणसी) – हनुमान जी का यह मंदिर महादेव की नगरी काशी में है। हनुमान जी के प्रमुख मंदिरों में से यह सबसे लोकप्रिय मंदिर है। मान्यता है कि इस मंदिर में हनुमान जी ने तुलसी दास को दर्शन दिए थे।
  4. मेहंदीपुर बालाजी हनुमान मंदिर- यह हनुमान जी का सबसे प्रसिद्ध मंदिर है। राजस्थान के दौसा जिले की पहाडियों के पास यह मंदिर स्थित है। यहां एक प्राचिन हनुमान मंदिर है। मंदिर की विशेष बात यह है कि यहां स्वयं हनुमान जी की प्रतिमा प्रकट हुई थी। यहां से कोई भी भक्त दरेशन करने के बाद खाली हाथ नहीं लोटता है। मान्यता है की मंदिर में जो भी भक्त दर्शन करने आते हैं उन पर बालाजी अपनी कृपा बना देते हैं। हर संकट में मेहंदीपुर बाला अपने भक्त की रक्षा करते हैं।
  5. हंपी कर्नाटक- यह हनुमान जी का सबसे पावन धाम है। हंपी शहर का यह एकलोता ऐसा मंदिर है जिसमें हनुमान जी की प्रतिमा यंत्रों में समाहित है। यह वही स्थान है जिसे रामायण काल में किष्किंधा नगरी कहा जाता था। यहां कुछ प्राचीन गुफाएं भी हैं। यह मंदिर अद्भुत आकृत से बनाया गया है और हनुमान जी के सबसे प्राचीन मंदिरो में से एक है। लोक आस्था है कि यहां बड़ी सकारात्मक ऊर्जा है और यहां आने पर मन को शांती मिलती है।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer