Lok Sabha Polls: दिल्ली में बन रही कर्नाटक की चुनावी योजना, अमित शाह और नड्डा से मिले कुमारस्वामी

Lok Sabha Polls: दिल्ली में बन रही कर्नाटक की चुनावी योजना, अमित शाह और नड्डा से मिले कुमारस्वामी

  1. NDA में शामिल हुए कुमारस्वामी, मिलकर लड़ेंगे लोकसभा चुनाव
  2. कर्नाटक की चुनावी रणनीति पर दिल्ली में हो रहा मंथन

प्रियंका कुमारी (संवाददाता)

नई दिल्ली, एएनआई। आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दल अपनी-अपनी तैयारियों में जुट गए। इसी बीच जनता दल सेक्युलर (JDS) के नेता एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) ने शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। दरअसल, लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर जेडीएस और भाजपा के बीच गठबंधन होने वाला है।

कुमारस्वामी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) को शॉल भेंट की। इस बैठक में गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत भी मौजूद रहे।

बकौल जेपी नड्डा, जेडीएस ने NDA का हिस्सा बनने का मन निर्णय लिया है, जो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दृष्टिकोण को सुदृढ़ करेगा।

दिल्ली के लिए रवाना होने से पहले कुमारस्वामी ने कहा था कि अगर जरूरत हुई तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और जेडीएस प्रमुख व पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा के बीच बातचीत हो सकती है।

क्या सीट बंटवारे पर हुई चर्चा?

भाजपा ने कर्नाटक का विधानसभा चुनाव अकेले लड़ा था और इस चुनाव में पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा। दरअसल, कांग्रेस ने स्थानीय मुद्दों के दम पर सत्ता पर कब्जा किया, लेकिन भाजपा अब लोकसभा चुनाव में नई रणनीति के साथ उतरने की योजना बना रही है। ऐसे में पार्टी जेडीएस के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का मन बना रही है।

कुमारस्वामी भाजपा के साथ बातचीत के लिए दिल्ली में हैं और शीर्ष नेताओं से मुलाकात कर आगे की स्थिति स्पष्ट कर रहे हैं, लेकिन अभी तक सीट बंटवारे को लेकर दोनों दलों के बीच में कोई चर्चा नहीं हुई। बीते दिनों कुमारस्वामी ने पत्रकारों को बताया था कि सीट बंटवारे को लेकर अभी तक कोई बातचीत नहीं हुई है।

क्या है बैठक का एजेंडा?

दिल्ली रवाना होने से पहले कुमारस्वामी ने बैठक का एजेंडा स्पष्ट कर दिया था। उन्होंने कहा था कि प्रदेश की 28 लोकसभा सीटों की स्थिति पर चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा था कि अभी तक हमने सीटों के बारे में कुछ भी नहीं सोचा और न ही उन्होंने (BJP) इस संबंध में कोई प्रस्ताव सामने रखा है। हम सभी सीटों पर मौजूदा स्थिति, पुरानी चुनावी स्थिति और 2023 में हुए चुनाव के दौरान की स्थिति को लेकर विस्तार से विचार-विमर्श करेंगे।

 

Leave a Comment