भारत ने कनाडा में भारतीय नागरिकों और छात्रों को किया अलर्ट, जारी की ये एडवाइजरी

S Jaishankar - India TV Hindi

प्रियंका कुमारी (संवाददाता)

भारत और कनाडा के बीच तनातनी बढ़ती हुई दिख रही है। इस बीच भारत ने कनाडा में रहने वाले भारतीय नागरिकों और छात्रों के लिए एडवाइजरी जारी की है। भारत ने कहा है कि कनाडा में मौजूद सभी भारतीय नागरिक और यात्रा पर विचार करने वाले लोग अत्यधिक सावधानी बरतें।

भारत विरोधी एजेंडे का विरोध करने वाले टारगेट पर

भारत ने कहा है कि हालही में भारतीय राजनयिकों और भारतीय समुदाय के लोगों को टारगेट किया गया है, जो भारत विरोधी एजेंडे का विरोध करते हैं। इसलिए भारतीय नागरिकों को सलाह दी जाती है कि वे कनाडा के उन क्षेत्रों और संभावित स्थानों की यात्रा करने से बचें, जहां ऐसी घटनाएं देखी गई हैं। भारत के विदेश मंत्रालय ने ये स्टेटमेंट जारी किया है।

कनाडा भी जारी कर चुका है अपने नागरिकों के लिए एडवाइजरी

इससे पहले कनाडा की सरकार ने भी अपने नागरिकों के लिए एक ट्रैवल एडवाइजरी जारी की थी। इस एडवाइजरी में कनाडा ने भारत की यात्रा करने वाले या फिर भारत में रह रहे अपने नागरिकों से जम्मू-कश्मीर और नॉर्थ ईस्ट नहीं जाने को कहा था। कनाडा ने अपने नागरिकों को सलाह दी थी कि अप्रत्याशित सुरक्षा हालात के कारण केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर की यात्रा करने से बचें। यहां आतंकवाद, उग्रवाद, अशांति और अपहरण का खतरा है।

भारत और कनाडा के बीच क्यों तनातनी?

दरअसल कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने सोमवार को संसद के निचले सदन हाउस ऑफ कॉमंस में अपने संबोधन में कहा था कि कनाडा के नागरिक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में भारत सरकार के एजेंट की संलिप्तता के पुख्ता आरोपों की कनाडा की सुरक्षा एजेंसियां पूरी सक्रियता से जांच कर रही हैं।

हालांकि ट्रूडो के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए भारत ने मंगलवार को इन्हें बेतुका और बेबुनियाद करार दिया। नई दिल्ली में विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि कनाडा में हिंसा के किसी भी कृत्य में भारत की संलिप्तता के आरोप बेतुके और बेबुनियाद हैं।

Leave a Comment