महिलाओं से अलग है पुरुषों में यूरिन इन्फेक्शन (UTI), जानें क्या है कारण और लक्षण

uti in men- India TV Hindi

प्रियंका कुमारी (संवाददाता)

पुरुषों में यूरिन इन्फेक्शन: महिलाओं में पुरुषों की तुलना ज्यादा यूरिन इंफेक्शन या यूटीआई इंफेक्शन होता है। इसके पीछे दो बड़े कारक होते हैं जैसे कि पीरियड्स के दौरान हाइजीन का ख्याल न रखना और दूसरा, महिलाओं की पेल्विक संरचना और फिर वजाइनल पीएच में बदलाव। लेकिन, पुरुषों में ऐसा कुछ नहीं होता पर यूटीआई इंफेक्शन उन्हें भी होता है। ऐसे में सवाल ये है कि इस यूटीआई इंफेक्शन का कारण (male urinary tract infection) क्या है और इस दौरान शरीर में क्या गतिविधियां होती है। साथ ही इसके लक्षण क्या हैं। तो, समझते हैं इन तमाम चीजों को विस्तार से।

पुरुषों में यूरिन इन्फेक्शन क्यों होता है-How does a man get a urinary tract infection

महिलाओं की तरह पुरुषों में हेल्दी पीएच और बैक्टीरिया का कोई मतलब नहीं होता है। आम तौर पर पुरुषों में मूत्र पथ (urinary tract) में कोई बैक्टीरिया या अन्य जीव नहीं होते हैं। यूटीआई का कारण बनने वाले बैक्टीरिया अक्सर मलाशय से मूत्रमार्ग (bladder) और फिर मूत्राशय या किडनी से फैलते हैं। पुरुषों में मूत्रमार्ग लिंग में छोटी ट्यूब है जिसके माध्यम से मूत्र गुजरता है। कभी-कभी बैक्टीरिया शरीर के दूसरे हिस्से से खून के जरिए मूत्र पथ में फैल जाते हैं। इसमें भी इंफेक्शन का खतरा कम ही होता है क्योंकि पुरुषों का मूत्रमार्ग लंबा होता है, जिससे बैक्टीरिया का मूत्राशय तक फैलना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में कारण कुछ और हो सकते हैं। जैसे कि

-यूरिन इन्फेक्शन यौन संचारित रोग (STI) के कारण हो सकता है।
-ब्लैडर में पथरी की वजह से जो कि मूत्र के प्रवाह को रोक देती है और संक्रमण का कारण बनती है।
-प्रोस्टेट से जुड़ी समस्याएं जिससे पेशाब सही से न हो पाए और ब्लैडर में जमा होने लगे। इससे इंफेक्शन हो सकता है।
-किसी और इंफेक्शन की वजह से जो ब्लैडर तक फैल जाए।
-डायबिटीज जैसी बीमारियों के कारण।

uti in men symotoms

पुरुषों में यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण-Male urinary tract infection symptoms

-पेशाब करते समय दर्द और बेचैनी
-पेशाब महसूस होना पर कर न पाना
-ज्यादा पेशाब लगना
-लिंग से मवाद आना
-पेट में दर्द
-बुखार या ठंड लगनाइस दौरान ध्यान देने वाली बात ये है कि प्रोस्टेट इंफेक्शन के कारण पीठ के निचले हिस्से में दर्द हो सकता है जबकि किडनी के इंफेक्शन में पीठ के बीच में दर्द महसूस हो सकता है। ऐसे में इन लक्षणों को नजरअंदाज न करें और डॉक्टर को दिखाएं। क्योंकि अगर आपने इंफेक्शन को लंबे समय तक ऐसे ही छोड़ दिया तो ये और बढ़ सकता है, किडनी तक पहुंच सकता है और गंभीर रूप ले सकता है।

Leave a Comment