घर में रहने नहीं देती थी, मायके वाले को बुलाकर पिटवाया, बहू से आहत बुजुर्ग ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान

प्रतीकात्मक फोटो- India TV Hindi

प्रियंका कुमारी (संवाददाता)

उत्तर प्रदेश के मथुरा से गमगीन कर देने वाली खबर आई है। यहां के एक बुजुर्ग ने अपनी बहू और उसके मायके वालों के उत्पीड़न से तंग आकर ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जान दे दी। पुलिस ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि बुजुर्ग के पास से सुसाइड नोट मिला है। इससे पता चला कि अपनी बहू और उसके चार परिजनों द्वारा की गई मारपीट, अभद्रता और मानसिक उत्पीड़न से तंग आकर बुजुर्ग ने आत्महत्या का कदम उठाया।

मृतक की जेब से मिले दस्तावेज

पुलिस अधीक्षक (एसपी) नगर मार्तंड प्रकाश सिंह ने बताया कि सोमवार को नरहौली पुल के पास एक बुजुर्ग के ट्रेन के आगे छलांग लगाकर जान देने की सूचना मिली थी। मृतक की जेब से मिले दस्तावेजों से उसकी शिनाख्त हाईवे थाना क्षेत्र के गांव बाजना-परखम निवासी 60 वर्षीय किसान स्वरूप सिंह के रूप में हुई। स्वरूप सिंह के पुत्र ने पत्नी सहित उसके मायके के चार लोगों पर पिता को मारने-पीटने,जलील करने और उनका उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। बेटे ने आरोप लगाया है कि इन्होंने ही आत्महत्या के लिए उकसाया।

सुसाइड नोट में लगाया आरोप

पुलिस सुसाइड नोट और उसमें लगाए गए आरोपों की जांच कर रही है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि बुजुर्ग की बहू आए दिन उनसे विवाद करती थी। घर में रहने नहीं देती थी और कुछ दिन पहले उसने अपने मायके वालों को बुलाकर स्वरूप सिंह की पिटाई भी करा दी थी। इससे वह काफी आहत थे और सोमवार को बिना बताए घर से बाहर निकल गए थे। एसपी ने बताया कि स्वरूप सिंह की जेब से मिले सुसाइड नोट की जांच की जा रही है। सिंह के बेटे ने भी अपनी पत्नी व उसके मायके के चार लोगों के खिलाफ शिकायत दी है। जांच कर मामला दर्ज किया जाएगा।

Leave a Comment