Mirzapur Loot Case: लूट और हत्‍याकांड के सात द‍िन, बदमाशों का लगा सुराग; जल्द हो सकता है घटना का राजफाश

Mirzapur Loot Case: लूट और हत्‍याकांड के सात द‍िन, बदमाशों का लगा सुराग; जल्द हो सकता है घटना का राजफाश

  1. घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश बेदौली से होकर भटौली के रास्ते जौनपुर निकले
  2. पुलिस टीम बदमाशों की तलाश में जौनपुर निकली
  3. बाइक व रुपये भी किए जा रहे बरामद

प्रियंका कुमारी (संवाददाता)

कैश वैन से लूट व गार्ड हत्याकांड को अंजाम देने वाले बदमाशों का सुराग लग चुका है। पुलिस कभी भी उनके गिरेबान तक पहुंचकर उनको दबोच सकती है। पाया गया कि बदमाश इससे पहले भी कई लूटकांड की घटना को अंजाम दे चुके हैं। यही वजह रही कि वह बेखौफ होकर जनपद में भी लूटकांड की घटना को अंजाम देकर आसानी से फरार हो गए और पुलिस उनको पकड़ नहीं पाई।

नगर के बेलतर स्थित एक्सिस बैंक के पास 12 सितंबर को कैश वैन के गार्ड जय सिंह की गोली मारकर हत्या व दो कैशियर रजनीश मौर्या, अखिलेश सिंह और विंध्याचल के बघरा तिवारीपुर गांव के रहने वाले बहादुरलाल को घायल करने वाले चार में से दो बदमाशों की पुलिस ने पहचान कर ली है।

सीसीटीवी से कराई गई पहचान

एक सप्ताह तक खंगाले गए सीसीटीवी कैमरे फुटेज में बदमाशों का चेहरा साफ दिखाई देने पर उनकी पहचान कराई गई तो कुछ लोगों ने उनके बारे में सुराग दे दिया। वहीं उनके भागने का रास्ता भी तय हो गया तो स्थिति पूरी साफ हो गई।बताया गया कि बदमाश घटना को अंजाम देने के बाद अनगढ़ रोड से भरूहना, धौरूपुर, मिश्रलहौली होते हुए झिंगुरा पहुंचे। वहां से बेदौली होकर बढ़ौली के रास्ते भटौली पहुंच गए। पुल पार करते ही कछवां बाजार की ओर जाने बजाय बदमाश तिराहे से पहले बाएं हाथ के रास्ते टापू पकड़कर गढ़ौली से कटका की ओर निकल गए। वहां से हाइवे पार करके टापू पकड़े हुए महराजगंज होकर जौनपुर जिले निकल गए।पुलिस को पता होने पर कई टीमें बदमाशों को दबोचने के लिए निकल गई। बच उनको दबोचने की देरी है। बताया जा रहा है कि पुलिस हत्याकांड में इस्तेमाल की गई बाइक व पिस्टल को बरामद करने में लगी हुई है। साथ ही लूटे गए 35 लाख 30 हजार रुपये कहा छिपाए गए है इसके बारे में जानकारी ले रही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार जल्द ही घटना का राजफाश किया जा सकता है।

Leave a Comment