खुशखबरी! इस राज्य के सरकारी स्कूल के छात्रों को मेडिकल की पढ़ाई में मिलेगा 5% रिजर्वेशन, मुख्यमंत्री ने की घोषणा

madhya pradesh, neet- India TV Hindi

प्रियंका कुमारी (संवाददाता)

भोपाल: अक्सर देखा गया कि छात्रों को शिकायत रहती है कि प्राइवेट स्कूल से पढ़े बच्चे ही NEET परीक्षा निकाल पाते हैं और सरकारी स्कूल के बच्चे नहीं कर पाते या काफी टाइम लगता है। बता दें कि ऐसे छात्रों को सीएम शिवराज ने बड़ी सौगात दी है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को एक बड़ी घोषणा की है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस साल से सरकारी स्कूलों के छात्रों को मेडिकल की पढ़ाई में 5 फीसदी रिजर्वेशन यानी आरक्षण देगी। मुख्यमंत्री ने दावा करते हुए कहा कि जब से राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) के माध्यम से मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन शुरू हुआ है, सरकारी स्कूलों के छात्र डॉक्टर नहीं बन पा रहे हैं।

मिलेगा 5% रिजर्वेशन

सीएम शिवराज ने आगे कहा कि देश में पहली बार राज्य सरकार ने इस योजना को लागू करने का फैसला किया है, जिसके तहत सरकारी स्कूल के छात्रों को मेडिकल की पढ़ाई में 5 प्रतिशत रिजर्वेशन दिया जाएगा। इन सीटों पर सिर्फ सरकारी स्कूल के छात्रों को ही एडमिशन दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब तक सिर्फ प्राइवेट स्कूल के छात्र ही NEET पास करते थे, पर अब से दो लिस्ट तैयार की जाएंगी, एक सरकारी विद्यालय के छात्रों के लिए और दूसरी प्राइवेट स्कूल के छात्रों के लिए। शिवराज ने आगे कहा कि गरीब पृष्ठभूमि से आने वाले बच्चों को भी आगे बढ़ने का मौका मिलना चाहिए।

इस दिन प्रोजेक्ट का शिलान्यास

बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सन् 1857 के विद्रोह के जनजातीय प्रतीक राजा शंकर शाह और उनके पुत्र कुंवर रघुनाथ शाह के शहादत दिवस के मौके पर जबलपुर में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इसके अलावा, सीएम चौहान ने 100 करोड़ रुपये की लागत से आदिवासी रानी दुर्गावती के स्मारक बनाने की भी घोषणा की है। उन्होंने कहा कि प्रोजेक्ट का शिलान्यास समारोह 5 अक्टूबर को आयोजित की जाएगी!

Leave a Comment

[democracy id="1"]