-मुख्यमंत्री विभिन्न विभागों में चल रहे 25 करोड़ रुपये से ज्यादा की विकास योजनाओं की समीक्षा की

ग्रामीण विकास मंत्रालय ने दीनदयाल अंत्योदय योजना - राष्ट्रीय ग्रामीण  आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूहों को उनके उत्पादों में डिजाइन ...

फरीदाबाद-(प्रियंका कुमारी) मुख्यमंत्री मनोहर लाल शनिवार को शनिवार को लघु सचिवालय में फरीदाबाद में चल रही 25 करोड़ से अधिक की विकास योजनाओं की समीक्षा की। इस दौरान उन्हाेंने कहा कि सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांटों (एसटीपी)के पानी के शोधन का स्तर इतना बेहतरीन करना है कि उसका उपयोग बागवानी, शौचालयों सहित दैनिक जीवन के कार्यों में किया जा सके। एसटीपी के पानी की बूंद-बूंद का सदुपयोग किया जाए। सीएम ने भविष्य में विकसित होने वाले हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) के सेक्टरों में पानी की दो पाइप लाइन बिछान के निर्देश दिए गए हैं। इनमें एक में पीने वाला पानी और दूसरी पाइप लाइन में एसटीपी से शोधित पानी की सप्लाई होगी। अब तक शहरों में इस प्रकार की व्यवस्था नहीं है। उन्होंने निर्देश दिए कि फरीदाबाद के रैनीवेल और एसटीपी के काम को समय पर पूरा करें। एफएमडीए की बसंतपुर में पेयजल सप्लाई स्कीम और मास्टर सीवरेज स्कीम योजना शामिल है। इसके अलावा सीएम ने फरीदाबाद स्मार्ट सिटी की ईपीसी (इंजीनियरिंग, प्रोक्योरमेंट एंड कंस्ट्रक्शन) आधार पर बनने वाले आठ सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट की भी समीक्षा की। स्मार्ट सिटी के बड़खल झील, पुलिस लाईन से शेरशाह सूरी मार्ग तक तीन अतिरिक्त रोड निर्माण, आईटीआई से नीलम चौक रोड, राजा नाहर सिंह स्टेडियम, ओल्ड फरीदाबाद की डिस्पेंसरी व नगर निगम भवन के निर्माण की समीक्षा की। साथ ही मुख्यमंत्री ने एमसीएफ, एनएचएआई, पीडब्ल्यूडी बीएंडआर,एचवीपीएनएल व वाईएमसीए के नए ब्लॉक निर्माण कार्यों की समीक्षा की। इस मौके पर केंद्रीय ऊर्जा एवं भारी उद्योग राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर, मंत्री मूलचंद शर्मा, विधायक नरेंद्र गुप्ता, राजेश नागर, भाजपा जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा,प्रिंसिपल एडवाइजर शहरी विकास (मेट्रोपॉलिटन गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत) डीएस ढेसी, पुलिस
आयुक्त राकेश आर्य सहित सभी कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। लघु सचिवालय में क्रेच सेंटर का उद्घाटन : मुख्यमंत्री ने शनिवार को फरीदाबाद के लघु सचिवालय में छोटे बच्चों के लिए क्रेच सेंटर का उद्घाटन किया। सेंटर को लघु सचिवालय में काम करने वाली महिला अधिकारियों-कर्मचारियों के छोटे बच्चों व कामकाज के लिए आने वाली महिलाओं के छोटे बच्चों के लिए तैयार किया गया है। इसमें फीडिंग रूम, रेस्ट रूम, प्ले सेंटर, रीडिंग एरिया, आर्ट कार्नर, स्टडी एरिया, प्ले एरिया और एक्टिविटी एरिया बनाया गया है।

Leave a Comment

[democracy id="1"]