“गुंडों ने मां को भी नहीं बख्शा”, दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या; खरगे बोले- दलित अत्याचार की प्रयोगशाला बना MP

 मल्लिकार्जुन खरगे- India TV Hindi

प्रियंका कुमारी(संवाददाता)

मध्य प्रदेश के सागर में पुरानी रंजिश की वजह से एक दलित युवक की कुछ लोगों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी। इस मामले में पुलिस ने अब तक आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। विपक्षी दल कांग्रेस ने गुरुवार को खुरई थाना क्षेत्र में हुई इस घटना को लेकर सूबे की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा। हालांकि, बीजेपी ने कहा कि मामले में तुरंत कार्रवाई की गई।

नामजद में से आठ आरोपी गिरफ्तार

एएसपी संजय उइके ने बताया, “खुरई थाना क्षेत्र में एक युवक का पुरानी दुश्मनी को लेकर कुछ लोगों से विवाद हो गया। दूसरे पक्ष की ओर से उसके साथ मारपीट की गई। फिर जब उसे अस्पताल ले जाया गया, तो डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।” वहीं, खुरई ग्रामीण थाने के प्रभारी नितिन पाल ने कहा, “मरने वाले युवक की पहचान सागर जिले के बरोदिया नैनागिर गांव निवासी नितिन अहिरवार (18) के रूप में हुई है। इस मामले में कुल 13 आरोपी हैं, जिनमें से नौ नामजद में से आठ को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 302 (हत्या) एवं अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।”

खरगे ने PM मोदी-CM पर साधा निशाना 

घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने एक्स पर लिखा, “मध्य प्रदेश के सागर जिले में एक दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। गुंडों ने उसकी मां को भी नहीं बख्शा। सागर में संत रविदास मंदिर बनवाने का ढोंग रचने वाले प्रधानमंत्री जी मध्य प्रदेश में दलितों और आदिवासियों के लगातार होते उत्पीड़न एवं अन्याय पर चुप्पी बनाए रखते हैं। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री केवल कैमरे के सामने वंचितों के पैर धोकर अपना गुनाह छिपाने की कोशिश करते हैं।”

“राज्य में दलितों के खिलाफ अपराध की दर सबसे ज्यादा”

उन्होंने कहा, “बीजेपी ने मध्य प्रदेश को दलित अत्याचार की प्रयोगशाला बना रखा है। बीजेपी शासित मध्य प्रदेश में दलितों के खिलाफ अपराध की दर सबसे ज्यादा है, यह राष्ट्रीय औसत से भी तीन गुना है।” खरगे ने कहा, “मोदी जी, इस बार मध्य प्रदेश की जनता बीजेपी के झांसे में नहीं आने वाली है। समाज के वंचित व शोषित वर्ग को तड़पाने-तरसाने का जवाब आपको कुछ महीने बाद (मध्य प्रदेश में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में) मिल जाएगा। भाजपा की विदाई निश्चित है।”

Leave a Comment