Chadrayaan 3: ‘बार्बी’ और ‘आदिपुरुष’ जैसी फिल्मों से कम है ‘चंद्रयान 3’ का बजट! जानिए पूरी डीटेल

Chandrayaan 3- India TV Hindi

प्रियंका कुमारी(संवाददाता)

Chandrayaan 3: चांद पर पहुंचने और उसे जानने की मनुष्य की तमन्ना को आज नए पंख मिले हैं। क्योंकि भारतीय स्पेस प्रोग्राम में काम करने वाले वैज्ञानिकों ने वह कर दिखाया है जो अब तक कोई भी देश नहीं कर पाया। भारत की ‘लुनर ब्लॉकबस्टर’ चंद्रयान-3 ने चांद के दक्षिणी ध्रुव पर उतरकर इतिहास रचा है। इससे भी बड़ी गर्व की बात यह है कि भारत ऐसा करने वाला दुनिया का एकमात्र देश है। गौरतलब है कि इसरो के चंद्रयान-3 मिशन की लागत 615 करोड़ रुपये है। अगर इसे यूएस डॉलर में बदला जाए तो यह 75 मिलियन डॉलर होता है। इस लिहाज से मानवता को दो कदम आगे ले जाने वाला यह मिशन कई ब्लॉकबस्टर फिल्मों से भी कम बजट का था। सुनकर चौंक गए न! लेकिन यह बात पूरी तरह से सच है।

इन फिल्मों से कम का है बजट 

चंद्रयान 3 का बजट यह बॉक्स ऑफिस पर औंधे मुंह गिरी फिल्म ‘आदिपुरुष’ के बजट तकरीबन 700 करोड़ रुपये से कम का है। मौजूदा समय में दुनियाभर की बॉक्स ऑफिस पर राज कर रही दो हॉलीवुड फिल्मों – ग्रेटा गेरविग की ‘बार्बी’ ($145 मिलियन) और क्रिस्टोफर नोलन की ‘ओपेनहाइमर’ ($100 मिलियन) से भी चंद्रयान-3 मिशन सस्ता है।

अंतरिक्ष वाली फिल्म से भी सस्ता 

अंतरिक्ष यात्रा पर भी कई फिल्में और वेबसीरीज बनती रहती हैं, जिनकी लागत भी काफी ज्यादा होती है। ऐसे ही एक स्पेस मिशन से प्रेरित फिल्म की बात करें तो रिडले स्कॉट की मैट डेमन-स्टारर ‘द मार्टियन’ (2015) 106 मिलियन डॉलर यानी भारतीय मुद्रा के अनुसार तकरीबन 800 करोड़ रुपए में बनाई गई थी।

एयर इंडिया की बोइंड विमान की डील से भी सस्ता 

चंद्रयान-3 किसी भी बोइंग विमान की औसत लिस्टेड प्राइस से भी सस्ता है। जिसके लिए एयर इंडिया ने हाल में ऑर्डर दिया है। इसमें 737 मैक्स (128.25 मिलियन डॉलर प्रत्येक), 787-9 (292.50 मिलियन डॉलर) और 777.9 (442.20 मिलियन डॉलर) शामिल है। एयर-इंडिया ने इनमें से 220 विमानों का ऑर्डर दिया है। जिन 250 एयरबस विमानों का सौदा तय किया गया है अगर उनकी कीमतों पर नजर डालें तो भी चंद्रयान-3 सस्ता है।

प्रत्येक एयरबस 320 नियो की कीमत 110.60 मिलियन डॉलर है। चंद्रयान-3 की लागत एयरबस 321 नियो (129.50 मिलियन डॉलर) से भी कम है और ए350-1000 (366.50 मिलियन डॉलर) और ए350-900 (317.40 मिलियन डॉलर) की कीमत के एक चौथाई से भी कम है।

रूस के मिशन से भी कम बजट का मिशन 

अगर इसरो के चंद्रयान-3 के दक्षिणी ध्रुव पर लैंडिंग की बात करें तो यह रूस के असफल मिशन लूना 25 (अनुमानित 200 मिलियन डॉलर या 1,600 करोड़ रुपये से अधिक) से काफी कम है। वहीं, चीन की पहली चांग’ई प्रोब (1.4 बिलियन युआन या 219 मिलियन डॉलर) से भी कम है।

Leave a Comment