Hariyali Teej 2023: हरियाली तीज पर सुहागिन महिलाएं गलती से भी न करें ये काम , वरना सुहाग पर मंडरा सकता है खतरा!

Advertisement

Hariyali Teej 2023- India TV Hindi

प्रियंका कुमारी(संवाददाता)

Hariyali Teej 2023: आज सुहागिनों के सबसे महत्वपूर्ण पर्वों में से एक हरियाली तीज मनाई जा रही है। धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक, इस व्रत को करने से अखंड सौभाग्यवती का आशीर्वाद मिलता है। हरियाली तीज के दिन भगवान शिव शंकर और माता पार्वती की पूजा का विधान है। हरियाली तीज हर सावन महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाती है। वहीं व्रत करने वाली महिलाओं को हरियाली तीज के दिन इन कामों को करने से बचना चाहिए वरना आपकी पूजा खंडित हो सकती है। तो आइए जानते हैं कि हरियाली तीज के दिन क्या नहीं करना चाहिए

Advertisement

हरियाली तीज के दिन सुहागिन महिलाएं भूलकर न करें ये काम

  • हरियाली तीज के दिन व्रत करने वाली महिलाएं हरी या लाल रंग के ही कपड़े पहनें। काले, सफेद या भूरे रंग के कपड़े बिल्कुल भी न पहनें। हिंदू धर्म में ये शोक और दुख का प्रतीक माने जाते हैं।
  • हरियाली तीज के दिन सुहागिन महिलाएं काली रंग की चूड़ियां भी न पहनें। आप इस दिन हरे रंग की चूड़ियां पहन सकते हैं। ये रंग खुशियों और पति की लंबी उम्र का प्रतीक माना जाता है।
  • हरियाली तीज की पूजा में व्रत करने वाली महिलाएं उन्हीं सामग्री का इस्तेमाल करें जो उन्हें मायके से दी गई है।
  • हरियाली तीज के दिन व्रत रखने वाली महिलाएं अपने पति से लड़ाई-झगड़ा बिल्कुल भी न करें। इसके साथ ही किसी को भी अपशब्द कहने से बचें।
  • हरियाली तीज का सामान मंगलवार को नहीं खरीदना चाहिए। अगर आपने कोई सामान मंगलवार के दिन खरीदा है तो उसका इस्तेमाल पूजा में बिल्कुल भी न करें।
  • व्रत रखने वाली महिलाओं का इस दिन सोना नहीं चाहिए। इसकी बजाए माता का भजन-कीर्तन करें। इस दिन पूरी श्रद्धा से भगवान शिव और माता पार्वती का ध्यान करें।
  • हरियाली तीज के दिन भूलकर भी जल या दूध का सेवन ना करें। तीज व्रत पारण मुहूर्त से पहले नहीं खोले। मुहूर्त से पहले या बाद में व्रत तोड़ने से उसका फल नहीं मिलता है।

हरियाली तीज व्रत का महत्व

हरियाली तीज के दिन भगवान शंकर और माता पार्वती की पूजा करने का विधान है। ये दिन महिलाओं के लिए भी विशेष महत्व रखता है। हरियाली तीज व्रत करने वाली महिलाओं को अखंड सौभाग्यवती का आशीर्वाद मिलता है।  इस दिन महिलाएं सज-संवरकर झूला झूलती हैं और सावन के प्यारे लोकगीत गाती हैं। इस दिन हाथों में मेहंदी लगाने की भी परंपरा है। वहीं हरियाली तीज से एक दिन पहले मां-बाप के द्वारा अपनी विवाहित लड़कियों के घर श्रृंगार की चीजें, कपड़े, फल, मिठाई आदि दिए जाते हैं। ऐसा करने से घर की सुख-समृद्धि में बढ़ोतरी होती है। अगर आप एक दिन पहले ऐसा न कर पाएं हो तो हरियाली तीज के दिन भी अपनी लड़की के घर ये सारा सामान भेज सकते हैं।

 

 

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer