‘नेहरू जी की पहचान उनके कर्म हैं, उनका नाम नहीं’, नेहरू मेमोरियल का नाम बदलने पर राहुल का पहला रिएक्शन

Advertisement

नेहरू जी की पहचान उनके कर्म हैं, उनका नाम नहीं- राहुल गांधी

प्रियंका कुमारी(संवाददाता)

नई दिल्ली:  कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने नेहरू मेमोरियल म्यूजियम और लाइब्रेरी का नाम बदलने पर अपना पहला रिएक्शन दिया है। उन्होंने कहा कि नेहरू जी की पहचान उनके कर्म हैं। उनका नाम नहीं। केंद्र सरकार ने नेहरू मेमोरियल म्यूजियम का नाम बदलकर प्रधानमंत्री म्यूजियम और लाइब्रेरी कर दिया है। 14 अगस्त से आधिकारिक तौर पर नया नाम प्रभावी हो गया है। कांग्रेस की ओर से पहले ही इस बदलाव को लेकर केंद्र की नीतियों पर निशाना साधा गया था। कांग्रेस की ओर से यह कहा गया कि कि लगातार हमले के बावजूद देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की विरासत हमेशा जिंदा रहेगी और वह आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करते रहेंगे। आज पहली बार राहुल गांधी ने इस बदलाव पर अपना मुंह खोला। दो दिनों के लेह-लद्दाख की यात्रा पर रवाना होने से पहले पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि नेहरू जी की पहचान उनके कर्म हैं, नाम नहीं।

Advertisement

नेहरूवादी विरासत को नकारना ही एकमात्र एजेंडा-जयराम रमेश

इससे पहले कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ के जरिए केंद्र पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि  विश्व प्रसिद्ध नेहरू स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय (एनएमएमएल) अब पीएमएमएल (प्रधानमंत्री स्मारक संग्रहालय और पुस्तकालय) बन गया है।” उन्होंने आरोप लगाया, “(नरेन्द्र) मोदी जी भय, पूर्वाग्रह और असुरक्षा से घिरे हुए हैं, खासकर जब बात हमारे पहले और सबसे लंबे समय तक सेवा करने वाले प्रधानमंत्री की आती है। उनका एकमात्र एजेंडा नेहरू और नेहरूवादी विरासत को नकारना, विकृत करना, बदनाम करना और नष्ट करना है। उन्होंने ‘एन’ को मिटाकर उसकी जगह ‘पी’ कर दिया है।

नेहरू की विरासत हमेशा जीवित रहेगी-रमेश

रमेश ने कहा, ” प्रधानमंत्री मोदी स्वतंत्रता आंदोलन में नेहरू के विशाल योगदान और भारत राष्ट्र-राज्य की लोकतांत्रिक, धर्मनिरपेक्ष, वैज्ञानिक और उदार नींव के निर्माण में उनकी महान उपलब्धियों को कभी भी मिटा नहीं सकते। इन सभी पर अब मोदी जी और उनकी वाह-वाह करने वालों की ओर से लगातार हमला किया जा रहा है।” उन्होंने कहा, “लगातार हमले के बावजूद, जवाहरलाल नेहरू की विरासत हमेशा जीवित रहेगी और वह आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करते रहेंगे।

कांग्रेस की आलोचना दरबारियों का विलाप-रविशंकर प्रसाद

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पलटवार करते हुए कहा कि मुख्य विपक्षी दल की विचार प्रक्रिया अकेले नेहरू-गांधी परिवार के इर्द-गिर्द घूमती है जबकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सभी प्रख्यात हस्तियों को सम्मान देने में विश्वास करते हैं। भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस नेहरू-गांधी परिवार को बढ़ावा देने के इर्द-गिर्द केंद्रित है जबकि मोदी ने सुनिश्चित किया है कि सभी प्रधानमंत्रियों को सम्मानजनक स्थान दिया जाए। उन्होंने कहा कि इससे पहले किसी अन्य प्रधानमंत्री को संग्रहालय में जगह नहीं दी गई थी। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस नेताओं की आलोचना कुछ और नहीं बल्कि दरबारियों का विलाप है।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer