गुवाहाटी, एजेंसी। लोकसभा में कांग्रेस के उपनेता गौरव गोगोई ने कहा कि मणिपुर में तब तक शांति नहीं हो सकती, जब तक 6000 अत्याधुनिक हथियार और 6 लाख कारतूस बरामद नहीं हो जाते।

‘3 मई से हिंसा की घटनाएं देख रहा है मणिपुर’

गोगोई ने कहा कि सुरक्षा बलों से लूटे गए इन हथियारों और कारतूस का इस्तेमाल राज्य के आम लोगों के खिलाफ किया जाएगा, जो बीते 3 मई से राज्य में हिंसा को देख रहे हैं।

‘मुख्यमंत्री बीरेन सिंह से नाखुश हैं मैतेई और कुकी’

गौरव गोगोई ने कहा, ‘शांति और सामान्य स्थिति कैसे हो सकती है, जब दोनों पक्षों के बीच सुलह पर कोई बातचीत नहीं होगी। उन्होंने दावा किया कि मैतेई और कुकी दोनों समुदाय मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह से नाखुश हैं। गोगोई ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में मुख्यमंत्री का पूरा समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि शांति समितियों में सीएम बीरेन सिंह की मौजूदगी के कारण शांति वार्ता विफल हो गई है।

‘2024 के लोकसभा चुनाव अच्छा प्रदर्शन करेगी I.N.D.I.A’

इसके अलावा उन्होंने असम के परिसीमन पर भी बात की। गौरव गोगोई ने कहा कि असम के परिसीमन पर नजर डालें तो इसमें विपक्ष की सीटों पर निशाना साधा जा रहा है। कलियाबोर, नगांव और बरपेटा में कांग्रेस पार्टी के कब्जे वाली लोकसभा सीटें विशेष रूप से भाजपा के निशाने पर हैं। AIUDF को फायदा हुआ इसलिए यह AIUDF और भाजपा के बीच सांठगांठ को उजागर करता है, लेकिन अगर भाजपा सोचती है कि असम के नए परिसीमन से उन्हें आगामी लोकसभा चुनाव में मदद मिलेगी तो वे गलत हैं।

उन्होंने कहा कि 2024 के चुनावों में पूरे भारत और असम में I.N.D.I.A गठबंधन और कांग्रेस पार्टी विशेष रूप से अच्छा प्रदर्शन करेगी।

पीएम मोदी के भाषण पर उठाए सवाल

इसके साथ ही कांग्रेस सांसद ने पीएम मोदी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से देश को गुमराह किया है। क्योंकि राहत शिविरों में रह रहे 60,000 लोगों के पुनर्वास और 6,000 हथियार बरामद होने तक सुलह के बिना कोई शांति नहीं हो सकती है।