वॉशरूम में इस्तेमाल करते हैं फोन तो हो जाएं सावधान, जानलेवा हो सकती है ये आदत

Advertisement

 

वॉशरूम में इस्तेमाल करते हैं फोन तो हो जाएं सावधान जानलेवा हो सकती है ये आदत  - Be careful while using smartphone in washroom, know the details here

प्रिया कश्यप (सवांददाता)

10 में से छह लोग सोशल मीडिया पर स्क्रॉल करने य़ा कोई और काम करने के लिए अपना फोन वॉशरूम में ले जाते हैं। बाथरूम में स्मार्टफोन का उपयोग करने से डिवाइस बैक्टीरिया के लिए चुंबक का काम कर सकते हैं। ये बैक्टीरिया आपको पेट दर्द दस्त और अन्य बिमारियों से प्रभावित कर सकते हैं। आइये इसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

कोविड-19 ने लोगों को स्वच्छता और साफ-सफाई बनाए रखने के जरूरत का एहसास कराया है। लगभग हर इंसान सैनिटाइजर का उपयोग करता है और दिन में कई बार अपने हाथ साफ करता है।

लेकिन क्या होगा अगर हम आपसे कहें कि तमाम सफाई और स्वच्छता के बाद भी आप पूरे दिन अपने साथ लाखों बैक्टीरिया ले जा रहे हैं तो? जी हां और ये बैक्टीरिया आपके स्मार्टफोन पर मिलते हैं। इसका कारण आपकी एक आदत हो सकती है।

रिपोर्ट में मिली जानकारी

नॉर्डवीपीएन के एक अध्ययन के अनुसार 10 में से छह लोग अपना फोन को वॉशरूम में ले जाते हैं, खासकर ये नए उम्र के लोगों में देखने को मिलता है। रिसर्च में भाग लेने वालों में से 61.6 प्रतिशत ने स्वीकार किया कि वे टॉयलेट सीट पर बैठकर अपने फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया अकाउंट चेक करते थे। रिसर्च में आगे कहा गया है कि एक तिहाई (33.9%) बाथरूम में करंट अफेयर्स को देखते हैं, जबकि एक चौथाई (24.5%) अपने प्रियजनों को संदेश भेजकर – या कॉल करके उपयोग करते हैं।

खतरनाक हो सकती है ये आदत

हालांकि स्मार्टफोन की लत को एक बुरी आदत के रूप में देखा जा सकता है, लेकिन इससे भी बुरी बात यह है कि यह आदत स्मार्टफोन को घातक बैक्टीरिया और रोगजनकों के लिए प्रजनन स्थल में बदल देती है। जैसे-जैसे लोग खुद को टॉयलेट सीट पर व्यस्त रखते हैं, बैक्टीरिया और कीटाणु भी उनके हाथों के माध्यम से स्मार्टफोन की सतह पर अपना रास्ता खोज लेते हैं। आखिरकार, पूरे दिन लगातार स्मार्टफोन का उपयोग करने से ये बैक्टीरिया हमारे मुंह, आंखों और नाक के माध्यम से हमारे शरीर में प्रवेश कर सकते हैं।

कैसे खतरनाक होगी ये आदत

रिपोर्ट बताती है कि मोबाइल फोन की स्क्रीन पर कीटाणु 28 दिनों तक जीवित रह सकते हैं। एक रिपोर्ट में, संक्रमण नियंत्रण विशेषज्ञ डॉ. ह्यू हेडन ने याहू लाइफ यूके को बताया। जैसा कि हम जानते हैं कि स्मार्टफोन टॉयलेट सीटों की तुलना में दस गुना अधिक कीटाणुओं को ले जा सकते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि जब हम स्मार्टफोन को छूते हैं और अपने स्मार्टफोन की स्क्रीन का उपयोग करते हैं तो इससे संक्रमण का खतरा होता है, फोन खुद ही संक्रमण का स्रोत बन जाता है।

गौरतलब है कि टॉयलेट सीटें स्टैफिलोकोकस ऑरियस सहित विभिन्न हानिकारक कीटाणुओं को आश्रय दे सकती हैं। ये पेट में दर्द, दस्त, संक्रमण, खाद्य विषाक्तता, फोड़े जैसे त्वचा संक्रमण, साइनसाइटिस जैसे श्वसन संक्रमण और अन्य जटिलताओं का कारण बन सकते हैं।

इन बातों का रखें ध्यान

इसलिए जरूरी है कि अपने फोन को वॉशरूम में न ले जाएं। इतना ही नहीं आप अपने ईयरबड्स या अन्य गैजेट्स को वॉशरूम में अपने साथ ले जाने से हानिकारक कीटाणुओं से दूषित करने का जोखिम हो सकता है।

 

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer