अगर आप भी जल्दी-जल्दी बदलते हैं जॉब, तो जान लीजिए करियर के लिहाज से ये है कितना सही ?

Advertisement

Job Hopping Know The Pros And Cons, Click Here To Know More | ​Job Hopping:  जल्दी-जल्दी नौकरी बदलना कितना सही, जानें

प्रिया कश्यप (सवांददाता)

Advertisement

करियर के शुरुआती दौर में तो ज्यादातर लोग अक्सर लोग ऐसा करते है कि एक साल के भीतर तक नौकरी बदलने का प्रयास करते हैं। हालांकि सबके साथ ऐसा नहीं लेकिन जो भी ऐसा करते हैं इन लोगों पर कंपनी भरोसा नहीं करती है। वे आप भरोसा नहीं करते हैं। उन्हें लगता है कि जब आप अपनी पिछली जॉब इतने कम समय में छोड़ सकते हैं तो फिरयहां क्याें नहीं।

 प्रोफेशनल लाइफ में ग्रोथ के लिए सभी लोग समय-समय पर जॉब बदलते रहते हैं, जिससे पद के साथ-साथ सैलरी में भी इजाफा हो सके। यह करियर के लिहाज से भी बेहद जरूरी है। हालांकि, कई कैंडिडेट्स में यह भी देखने को मिलता है कि वे नौकरी बदलने में कुछ ज्यादा ही जल्दबाजी दिखाते हैं। अच्छे वेतन और पद की चाहत में अक्सर जल्द से जल्द जॉब बदलना चाहते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपकी यह आदत आपके प्रोफेशनल लाइफ के लिए कितना सही है। कहीं आपके इस रवैये के चलते आपकी इमेज पर कोई प्रभाव तो नहीं पड़ता, आइए समझते हैं।

कंपनी नहीं करती हैं भरोसा

करियर के शुरुआती दौर में तो ज्यादातर लोग अक्सर लोग ऐसा करते है कि एक साल के भीतर तक नौकरी बदलने का प्रयास करते हैं। हालांकि, सबके साथ ऐसा नहीं, लेकिन जो भी ऐसा करते हैं, इन लोगों पर कंपनी भरोसा नहीं करती है। वे आप भरोसा नहीं करते हैं। उन्हें लगता है कि जब, आप अपनी पिछली जॉब इतने कम समय में छोड़ सकते हैं तो फिर, यहां क्याें नहीं।

बनती है निगेटिव इमेज

साल भर में या फिर 6 महीने के भीतर जॉब चेंज करने वाले कैंडिडेट्स के लिए कंपनी के अधिकारी यह भी मानने लगते हैं कि कहीं, काम से बचने के लिए तो बार-बार उम्मीदवार नौकरी नहीं बदल रहा है। इस तरह की सोच भी आपके प्रति निगेटिव इमेज बनाती है। इसलिए, आप भी कोई ऐसा फैसला लेने जा रहे हैं, तो एक बार इन सभी फैक्टर के बारे में एक बार जरूर सोचें।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer