Mangal Gochar 2023: मंगल सिंह राशि में करेंगे प्रवेश, 1 जुलाई से इन राशियों का बदल जाएगा भाग्य, धन-धान्य में होगी बढ़ोतरी

Advertisement

Mangal Gochar 2023: 1 जुलाई से नई  राशि में होंगे ग्रहों के सेनापति, इन राशि  वालों को कराएंगे बंपर लाभ | mangal ka singh rashi mein gochar 2023 these  zodiac sign people

Advertisement

प्रियंका कुमारी(संवाददाता)

Mangal Gochar 2023: 30 जून को देर रात 2 बजकर 57 मिनट पर मंगल सिंह राशि में प्रवेश करेंगे और 18 अगस्त की दोपहर बाद 3 बजकर 55 मिनट तक सिंह राशि में ही गोचर करते रहेंगे, उसके बाद कन्या राशि में प्रवेश कर जाएंगे। बता दें कि मंगल व्यक्ति को शक्तिशाली और साहसी बनाता है, वहीं जन्मपत्रिका में मंगल अच्छी स्थिति में न होने पर समाज के विरूद्ध कामों के लिये प्रेरित करता है। मंगल वैसे तो सही मार्ग पर चलने वाला और सच्चाई का साथ देने वाला ग्रह है, लेकिन बुरे के साथ यह बुरा है। मंगल के सिंह राशि में प्रवेश से विभिन्न राशियों पर इसका असर पड़ेगा। तो आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए किस राशि पर इसका क्या असर होगा और इसके अशुभ प्रभावों से बचने के लिए क्या उपाय करने चाहिए।

मेष राशि- मंगल आपके पांचवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के पांचवे स्थान का संबंध हमारे संतान, बुद्धि, विवेक और रोमांस से है । मंगल के इस गोचर से आपको संतान का सुख मिलेगा। आपकी बौद्धिक क्षमता में बढ़ोतरी होगी और आपको गुरु का पूरा साथ मिलेगा। साथ ही दांपत्य जीवन में भी मधुरता रहेगी। इस दौरान तक आप जो भी काम करेंगे, उसका अच्छा लाभ मिलेगा।

उपाय- रात के समय सिरहाने पर पानी का बर्तन रखकर सोएं और छोटे बच्चों को दूध गिफ्ट करें।

वृष राशि-मंगल आपके चौथे स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के चौथे स्थान का संबंध हमारे भवन, भूमि, वाहन तथा माता से है । मंगल के इस गोचर से आपको भूमि-भवन, वाहन का सुख मिलेगा और माता का सहयोग मिलेगा। लेकिन यहां एक अन्य बात पर गौर करना चाहिए, जैसा कि मैंने अभी पहले भी आपको बताया है कि जन्मपत्रिका में पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल का गोचर जातक को मांगलिक बनाता है । अतः वृष राशि वालों चौथे स्थान पर मंगल का यह गोचर आपको 18 अगस्त तक के लिए अस्थायी रूप से मांगलिक बना देगा। वहीं अगर आप विवाहित हैं तो इस बात पर भी ध्यान दें कि क्या आपके जीवनसाथी की कुंडली में मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान में तो नहीं जा रहा है।

उपाय- 18 अगस्त तक सुबह उठकर सबसे पहले पानी से कुल्ला करें।

मिथुन राशि- मंगल आपके तीसरे स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के तीसरे स्थान का संबंध हमारे पराक्रम, भाई-बहन तथा यश से है । मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आप उर्जावान बनेंगे। इस दौरान भाई बहनों से सहयोग मिलता रहेगा। आपका गृहस्थ जीवन ठीक रहेगा। आप दूसरों की हर संभव मदद करेंगे। साथ ही ससुराल पक्ष से आर्थिक लाभ भी मिलेगा, लेकिन इस दौरान ध्यान रहे कि किसी से भी कर्ज न लें।

उपाय-18 अगस्त तक पड़ने वाले मंगलवार को मंदिर में चना और गुड़ का दान करें।

कर्क राशि- मंगल आपके दूसरे स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के दूसरे स्थान का संबंध हमारे धन तथा स्वभाव से है। मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आपको आर्थिक रूप से लाभ होगा, लेकिन आया हुआ पैसा अधिक समय तक आपके पास नहीं टिकेगा। भाईयों से जितना अधिक प्यार बनाकर रखेंगे, उतना ही अधिक आपको लाभ प्राप्त होगा । वैसे संतान का पूरा सुख आपको मिलेगा।

उपाय- सुबह उठकर घर की बड़ी महिलाओं का आशीर्वाद लें।

सिंह राशि- मंगल आपके पहले यानि लग्न स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका में लग्न यानि पहले स्थान का संबंध हमारे शरीर तथा मुख से है। मंगल के इस गोचर के प्रभाव से पॉलिटिक्स से जुड़े लोगों के साथ ही लोहा, लकड़ी, मशीनरी आदि का काम कर रहे लोगों को भी आर्थिक रूप से फायदा मिलेगा। लेकिन यहां एक बार फिर से बता दूं कि- जन्मपत्रिका के चौथे, सातवें आठवें और बारहवें स्थान पर मंगल का गोचर जातक को मांगलिक बनाता है। अतः सिंह राशि वालों पहले स्थान पर मंगल के इस गोचर से आप 18 अगस्त तक अस्थायी रूप से मांगलिक कहलाएंगे और अगर आप विवाहित हैं तो इस बात का भी ध्यान रखें कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर तो नहीं जा रहा है। अगर ऐसा है तो आपको मंगल उपाय जरुर करने चाहिए।

उपाय- मंदिर में कपूर या दही का दान करें। 

कन्या राशि- मंगल आपके बारहवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के बारहवें स्थान का संबंध आपके व्यय तथा शय्या सुख से है । मंगल के इस गोचर से आपके पास धन की कमी नहीं होगी और आप प्रभावशाली होंगे। साथ ही शय्या सुख भी मिलता रहेगा। साथ ही ये भी जान लीजिये कि जन्मपत्रिका में पहले, चौथे, सातवें और आठवें घर की तरह बारहवें घर में भी मंगल का गोचर जातक को मांगलिक बनाता है। लिहाजा कन्या राशि वालों को बारहवें स्थान पर मंगल का यह गोचर 18 अगस्त तक के लिए अस्थायी रूप से मांगलिक बना देगा। अगर आप विवाहित हैं तो इस बात पर भी ध्यान दें कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर तो नहीं जा रहा है । अगर हां तो आपको इस गोचर के उपाय जरूर करने चाहिए।

उपाय-18 अगस्त तक खाकी रंग की टोपी या पगड़ी से सिर ढककर रखें।

तुला राशि- मंगल आपके ग्यारहवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के ग्यारहवें स्थान का संबंध हमारे आय तथा इच्छाओं की पूर्ति से होता है । मंगल के इस गोचर से आप साहसी और न्यायप्रिय होंगे, आध्यात्मिक विचारों के प्रति आपकी आस्था बढ़ेगी। इस बीच आपके साथ-साथ आपके माता-पिता को भी आर्थिक रूप से लाभ होगा। साथ ही इस दौरान आपकी कोई खास इच्छा पूरी हो सकती है। हालांकि इस दौरान आपको अपनी सेहत का ख्याल रखने की आवश्यकता है।

उपाय- जरूरतमंद को वस्त्र दान करें।

वृश्चिक राशि- मंगल आपके दसवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के दसवें स्थान का संबंध हमारे करियर, राज्य तथा पिता से होता है । मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आपको करियर में लाभ मिलेगा। आपके पिता की उन्नति होगी। आपके कदम जहां भी जाएंगे, वहां तरक्की ही तरक्की होगी। आपका गृहस्थ जीवन सुखी होगा । साथ ही आपकी अचल सम्पत्ति में इजाफा हो सकता है।

उपाय- चूल्हे पर दूध उबालते समय ध्यान रखें कि दूध उबलकर बर्तन से बाहर न गिरे।

धनु राशि- मंगल आपके नवें स्थान, यानि भाग्य स्थान पर गोचर करेंगे। लिहाजा मंगल के इस गोचर से आपको हर तरह का सुख मिलेगा और भाग्य का पूरा साथ मिलेगा। वहीं बड़े भाई का साथ आपकी किस्मत के सितारे को और भी बुलंद कर देगा। इस दौरान शस्त्र, चिकित्सा और कृषि के व्यवसाय आदि से जुड़े लोगों को धन लाभ होगा। जो लोग प्रशासनिक सेवाओं में कार्यरत हैं, उन्हें किसी अन्य पद की प्राप्ति भी हो सकती है।

उपाय- भाईयों को जब भी जरूरत पड़े, तो उनकी सहायता जरूर करें। 

मकर राशि- मंगल आपके आठवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के आठवें स्थान का संबंध हमरे आयु से है । मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आपको कार्यों में सफलता मिलेगी । हालाँकि इस दौरान वाहन चलाते समय आपको विशेष सावधानी बरतनी होगी। इसके अलावा आठवें स्थान पर मंगल का यह गोचर मकर राशि वालों को 18 अगस्त तक के लिए अस्थायी रूप से मांगलिक बना देगा। अगर आप विवाहित हैं तो आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर तो नहीं जा रहा है। अगर हां तो ठीक है, अन्यथा मंगल के इस गोचर के उपाय आपको जरूर करने चाहिए।

उपाय- रोटी सेंकने के लिए तवा रखें, तो उसके गर्म होने पर पानी के छींटे मारने के बाद रोटी सेंके। 

कुंभ राशि- मंगल आपके सातवें स्थान पर गोचर करेगा। जन्मपत्रिका के सातवें स्थान का संबंध हमारे जीवनसाथी से है । मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आपको जीवनसाथी का साथ मिलता रहेगा। लव मेट्स के साथ भी आपके रिश्ते बेहतर बने रहेंगे। सातवें स्थान पर मंगल का यह गोचर आपको भी 18 अगस्त तक के लिए अस्थायी तौर पर मांगलिक बना देगा। अगर आप विवाहित हैं तो आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर तो नहीं जा रहा है। अगर ऐसा है तो ठीक, वरना सतर्क होकर इस गोचर के उपाय आपको जरूर करने चाहिए।

उपाय- अपनी बहन या बुआ को लाल रंग के कपड़े गिफ्ट करें और उनका आशीर्वाद लें।

मीन राशि- मंगल आपके छठे स्थान पर गोचर करेगा। जन्मपत्रिका के छठे स्थान का संबंध हमारे मित्र, शत्रु तथा स्वास्थ्य से है । मंगल के इस गोचर से समाज में आपकी ताकत बढ़ेगी और इस बीच आपका परिचय समाज के कुछ अच्छे लोगों से होगा। मंगल का यह गोचर आपके भाईयों और दोस्तों के लिए भी शुभ संकेत लेकर आया है। इस दौरान आपको आग से सावधानी बरतनी चाहिए।

उपाय- मंगलवार के दिन अपने भाई को कुछ न कुछ गिफ्ट जरूर करें। 

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer