Study: ज्यादा शराब पीने से कमजोर हो सकती हैं मसल्स, लेटेस्ट स्टडी में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

Advertisement

Study ज्यादा शराब पीने से कमजोर हो सकती हैं मसल्स लेटेस्ट स्टडी में हुआ  चौंकाने वाला खुलासा - excessive consumption of alcohol can weak your muscles  latest study make shocking reveal

प्रिया कश्यप (सवांददाता)

Study इन दिनों शराब कई लोगों की जीवनशैली का हिस्सा बनती जा रही है। कुछ लोग जहां इसे सीमिता मात्रा में पीते हैं तो वहीं कुछ लोग जरूरत से ज्यादा सेवन करते हैं। आपने अक्सर शराब से होने वाले हानिकारक प्रभावों के बारे में सुना होगा। इसी क्रम में हाल ही में शराब और इसके हानिकारक प्रभावों को लेकर एक और चौंकाने वाली स्टडी सामने आई है।

Study: इन दिनों लोगों की जीवनशैली में लगातार बदलाव हो रहे हैं। काम के बोझ और लगातार बिगड़ती खानपान की आदतों की वजह से अक्सर लोगों को कई समस्याओं का शिकार होना पड़ता है। शराब लोगों की इन्हीं आदतों में से एक है, जो न सिर्फ शारीरिक, बल्कि मानसिक रूप से भी लोगों को काफी नुकसान पहुंचाती है। अलग-अलग लोगों में शराब पीने की अपनी अलग आदतें होती हैं। कुछ लोग जहां सीमित मात्रा में इसका सेवन करते हैं, तो वहीं कुछ लोग जरूरत से ज्यादा शराब पीते हैं।

ये तो हम सभी जानते हैं कि शराब हमारी सेहत के लिए काफी हानिकारक होती है। लेकिन जरूरत से ज्यादा इसका सेवन हमें कई गंभीर समस्याओं का शिकार बना सकता है। हाल ही में इसे लेकर एक और चौंकाने वाली स्टडी सामने आई है। सामने आए इस ताजा अध्ययन में यह पता चला कि जो लोग ज्यादा मात्रा में शराब का सेवन करते हैं, उनकी मांसपेशियों यानी मसल्स को ज्यादा नुकसान पहुंचता है। तो चलिए जानते हैं क्या रहती है लेटेस्ट स्टडी-

लेटेस्ट स्टडी में हुआ खुलासा

यूनिवर्सिटी ऑफ एंग्लिया की इस स्टडी में यह पता चला है कि ऐसे में लोग जो जरूरत से ज्यादा शराब पीते हैं, एक उम्र के बाद उनमें मसल्स लूजिंग का जोखिम ज्यादा रहता है। इस शोध में यह भी पता चला है कि जो लोग दिन में 10 या 10 से ज्यादा यूनिट शराब पीते हैं, उनकी मांसपेशियों को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचता है और यह मिडिल एज तक आते-आते कमजोरी का कारण भी बन सकता है।

मांसपेशियों पर असर डालती है शराब

इस रिसर्च के तहत शोधकर्ताओं ने यूके बायोबैंक के डेटा की मदद से 37 से 73 वर्ष की उम्र के 200,000 लोगों पर रिसर्च की। रिसर्च में शामिल इन प्रतियोगियों में ज्यादातर लोगों की उम्र 50 से 60 के बीच थी। शोधकर्ता इसे सार्कोपेनिया कहते हैं, जिसका मतलब मांसपेशियों और ताकत की प्रगतिशील हानि है। इस स्थिति का मुख्य लक्षण मांसपेशियों में कमजोरी है। आमतौर पर उम्र के साथ यह समस्या देखने को मिलती हैस लेकिन जरूरत से ज्यादा शराब पीने और खराब लाइफस्टाइल की वजह से सार्कोपेनिया का तेजी से विकास होता है।

शरीर पर शराब के नकारात्मक प्रभाव

जब भी कोई व्यक्ति शराब का सेवन करता है, तो इससे शरीर में मौजूद केमिकल के कारण आपके शरीर में मांसपेशियों का टूटना आसान हो जाता है। ऐसे में शराब के अत्यधिक सेवन से मांसपेशियों की कोशिकाओं में मौजूद कैल्शियम की कार्यप्रणाली प्रभावित होती है। शराब के अत्यधिक सेवन से मसल्स की सेल्स पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। शराब शरीर में ग्लुकोकोर्टिकोइड्स को बढ़ाता है, जो मांसपेशियों के टूटने का कारण बनता है।

इसके अलावा अल्कोहल से शरीर में अमोनिया में वृद्धि होती है, जो मांसपेशियों के टूटने का कारण बनता है। साथ ही ज्यादा मात्रा में शराब पीने से धीरे-धीरे विटामिन बी, आयरन, जिंक, पोटेशियम और विटामिन डी की कमी होती है। इसकी वजह से प्रोटीन को मांसपेशियों में परिवर्तित करने और इसे रिपेयर करने की प्रक्रिया को प्रभावित भी करते हैं।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer