Exclusive: महेश भट्ट ने पूजा भट्ट संग अपने रिश्ते पर की बात, खुद को बताया जवाहर और बेटी को इंदिरा

Advertisement

Mahesh Bhatt talks about his relationship with Pooja Bhatt calls himself  Jawahar and Indira to his daughter | Exclusive: महेश भट्ट ने पूजा भट्ट संग  अपने रिश्ते पर की बात, खुद को

प्रियंका कुमारी(संवाददाता)

‘बिग बॉस OTT 2’ इन दिनों चर्चा में है, जहां एक वक्त पर बॉलीवुड में घूम मचा चुकीं एक्ट्रेस पूजा भट्ट शामिल हुई हैं। पूजा अपने पिता की तरह बेबाक हैं और चर्चा का विषय बनी हुई हैं। ऐसे में पूजा के पिता महेश भट्ट से इंडिया टीवी की खास मुलाकात हुई। जहां महेश भट्ट ने पूजा भट्ट पर खुलकर की बात करी है। महेश भट्ट ने इस बातचीत में अपनी बेटी और खुद की बॉन्डिंग को जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी से कंपेयर किया है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि उन्होंने अपने सारे बच्चों में सबसे ज्यादा समय पूजा के साथ बिताया है।

Advertisement

पत्नी को करनी पड़ी थी रिसेप्शनिस्ट की नौकरी 

महेश भट्ट अपनी बड़ी बेटी पूजा भट्ट के बारे में बात करते हुए बोले, “पूजा को उसके बचपन में मैक्सिमम वक्त उसे मैं दे पाया था। क्योंकि काम मेरे पास था नहीं, 23 24 साल में तो मैं बाप बन गया था। उस वक्त मैं काम ढूंढता था क्योंकि मेरे पास काम नहीं था कभी ‘द लाइफ बॉयस’ तो फिर ‘डालडा’ के कमर्शियल्स पर काम करता था। फिल्म दो-तीन बनाई थी मगर नहीं चली थी, यह गिरने पढ़ने वाला खेल है वह कहते हैं ना कि you learn swimming by swimming. तो घर को चलाने के लिए मेरी पहली पत्नी पूजा की मां ने काम करना शुरू किया। शौहर के पास काम नहीं है तो उन्होंने ब्रिटानिया में रिसेप्शनिस्ट का काम कर लिया। तो अच्छी सैलरी मिलती थी उनको।”

पूजा के बचपन दिया ज्यादा समय  

जब पत्नी की नौकरी लगी तो महेश भट्ट को फुल टाइम फादर वाली जॉब करनी पड़ी। उन्होंने कहा, “पूजा को स्कूल छोड़ने की ड्यूटी मेरी थी, हाई स्कूल में मैं उसे छोड़ने आता था। उसका स्कूल का बैग लेकर मैं निकलता था और फिर बाद में मैं अपने काम पर जाता था तो उसको मैं साथ में लेकर जाता था। जैसे कि मैं बप्पी लहरी के घर पर म्यूजिक सेटिंग के लिए जब जाता था ‘लहू के दो रंग’ के लिए तो बच्ची साथ में जाती थी। जब पूजा स्टार बन गई तो फिर वो कहते थे कि तुमको याद है तुम अपने पापा के साथ मेरे घर पर आती थीं। तो पूजा कहती के मुझे सब याद है। हमारे आसपास के लोग कहते थे कि यह जवाहरलाल नेहरु और इंदिरा गांधी की जोड़ी है।”

जब पूजा ने रिजेक्ट की पापा की फिल्म 

इसके आगे महेश भट्ट ने कहा, “मैं ये देखा है पूजा में एक जुर्रत है। ‘डैडी’ के बाद जब मैंने उसको ‘आशिकी’ ऑफर की तो उसने कहा में नहीं करूंगी फिर उसके बाद उसने ‘दिल है कि मानता नहीं’ की, ‘सड़क’ की। प्रोड्यूसर बनने के बाद उसने कमर्शियल फिल्में नहीं की बल्कि उसने ‘तमन्ना’ की। उसने कहा ‘जख्म’ बनानी है, ‘दुश्मन’ बनानी है मुझे। उसने जिंदगी अपनी शर्तों पर जी है।”

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer