किचन में इस्तेमाल होने वाले Gas Cylinder के पीछे लाल रंग का क्या है राज? कनेक्शन लेने से पहले जानें पूरी डिटेल

किचन में इस्तेमाल होने वाले Gas Cylinder के पीछे लाल रंग का क्या है राज? कनेक्शन लेने से पहले जानें पूरी डिटेल

पिंकी कुमारी(संवाददाता)

हर रोज दिखने वाला और आपके घरों में इस्तेमाल होने वाला गैस सिलेंडर आखिर लाल रंग का ही क्यों होता है क्या आपके मन में यह सवाल आता है। अगर हां तो आपको हम इसी सवाल का जवाब देने जा रहे हैं कि आखिर लाल रंग का ही क्यों होता है गैस का सिलेंडर। यहां गैस से मतलब लिक्वेफाइड पेट्रोलियम गैस है जो रसोई घर में इस्तेमाल किया जाता है।

नई दिल्ली,बिजनेस डेस्क: हर घर के किचन में इस्तेमाल होने वाला गैस सिलेंडर के कई राज है। इसमें से शायद ही आपको सबके बारे में पता होगा। इन्हीं कई सवालों के बीच एक सवाल यह भी है कि आखिर लाल रंग का गैस सिलेंडर क्यों होता है। वैसे सामान्य तौर पर लाल रंग रुकने और खतरे का प्रतिक माना जाता है।

यहां आपको ध्यान देने की जरूरत है कि किचन में इस्तेमाल किया जाने वाले सिलेंडर में लिक्वेफाइड पेट्रोलियम गैस (LPG) भरी होती है। एलपीजी के अलावा भी कई और गैस होते हैं जिन्हें अलग रंग के सिलेंडर में भरा जाता है। चलिए जानते हैं कि आखिर घर में रखा एलपीजी सिलेंडर लाल रंग का ही क्यों होता है।

क्यों होता है लाल रंग?

जैसे कि हम सब जानते हैं कि लाल रंग को खतरे का चिन्ह माना जाता है। इसी लिए सिलेंडर को भी लाल रंग से पेंट किया जाता है क्योंकि सिलेंडर में भी खतरा होता है। इसके अंदर भरी हुई एलपीजी गैस ज्वलनशील होती है जिसे अच्छे और जिम्मेदारी से इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

अगर लापरवाही की तो बड़ा हादसा हो सकता है जिससे लोगों की जान भी जा सकती है। लोगों को सावधान करने के लिए ही गैस सिलेंडर को लाल रंग से पेंट किया जाता है। इसके अलावा गैस सिलेंडर में एलपीजी भरी हुई है, इसकी आसानी से लोग पहचान सके इसलिए इसे लाल रंग से पेंट किया जाता है।

अगर लापरवाही की तो बड़ा हादसा हो सकता है जिससे लोगों की जान भी जा सकती है। लोगों को सावधान करने के लिए ही गैस सिलेंडर को लाल रंग से पेंट किया जाता है। इसके अलावा गैस सिलेंडर में एलपीजी भरी हुई है, इसकी आसानी से लोग पहचान सके इसलिए इसे लाल रंग से पेंट किया जाता है।

कितने तरह की होती है गैस?

लिक्वेफाइड पेट्रोलियम गैस (एलपीजी) के अलावा कई प्रकार की गैस का इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा कंप्रैस्ड नैचुरल गैस (सीएनजी), पाइपड नैचुरल गैस (पीएनजी), ऑक्सीजन, कार्बन डाइऑक्साइड, नाइट्रोजन और हीलियम गैस होती है।

सभी गैस के अपने-अपने यूज है जो लोगों के जीवन को आरामदायक बनाती है जब तक उसका सही से और सावधानी पूर्वक इस्तेमाल किया जा सके।

किस गैस के लिए कौन से रंग का सिलेंडर?

आपको बता दें कि ऑक्सीजन गैस के लिए सिलेंडर को सफेद रंग से पेंट किया जाता है। आपको ऑक्सीजन गैस सिलेंडर हॉस्पीटल में देखने को मिलते हैं।

नाइट्रोजन गैस के लिए सिलेंडर को काले रंग में पेंट किया जाता है। इस गैस का इस्तेमाल टायर में हवा भरने के लिए किया जाता है। आपको यह सिलेंडर पेट्रोल पंप पर टायरों में हवा भरने या फिर पंक्चर बनाने वाले दुकानों पर मिल जाएगा।

हीलियम गैस के लिए सिलेंडर को भूरे रंग में पेंट किया जाता है। इस गैस का इस्तेमा गुब्बारों मे हवा भरने के लिए किया जाता है जिसकी वजह से गुब्बारें आसमान कि ओर जाते हैं।

आपने अक्सर ‘लाफिंग गैस’ के बारे में सुना होगा इस गैस के लिए सिलेंडर को नीले रंग से पेंट किया जाता है। इसमें नाइट्रस ऑक्साइड गैस भरी जाती है।

कार्बन डाइऑक्साइड गैस के लिए सिलेंडर को ग्रे रंग से पेंट किया जाता है और इसका उपयोग व्यवसायी, फैक्टरी और इंडस्ट्री में किया जाता है।

Leave a Comment

[democracy id="1"]