शादी नहीं सौदा है आटा-साटा, राजस्थान में कुप्रथा की वजह से ‘बेड़ियों’ में बेटियां

क्या है आटा-साटा प्रथा, जिसमें लोग अपनी ही बेटियों का कर देते हैं 'सौदा'-  what is aata sata pratha in which people deal their daughter for marriage  in rajasthan

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता)

इस कुप्रथा के कारण राजस्थान (Aata Sata Pratha in rajasthan) में कई युवक और युवती आत्महत्या कर लेते हैं। वहीं, दूसरी तरफ कई महिलाएं इस कुप्रथा में फंसकर अपनी पूरी जिंदगी ऐसे ही बिताने के लिए मजबूर हो जाती हैं।

वहीं, इस कुप्रथा को रोकने के लिए गहलोत सरकार भी ये कह चुकी है कि वो जल्द ही कानून लेकर आएगी। इस खबर में समझिए कि क्या होती है आटा-साटा प्रथा, जिसके कारण लोग आत्महत्या तक कर लेते हैं।

क्या होती है आटा-साटा कुप्रथा?

लड़की की अदला बदली करना… इसे ही आटा-साटा कुप्रथा (aata sata pratha kya hai) कहा जाता है। जैसे मान लीजिए आटा-साटा कुप्रथा के चलते किसी लड़के की शादी किसी लड़की के साथ तय होती है तो लड़की की ओर से किसी लड़के की शादी होने वाले पति की बहन से कर दी जाती है। इसे ही अदला बदली या आटा-साटा कहा जाता है।

इस कुप्रथा के कारण लड़के और लड़कियों दोनों का ही जीवन खराब होता है। वहीं अगर लड़की की बात करें तो लड़कियों को अपनी पसंद और नापसंद देखने का कोई अवसर नहीं दिया जाता है। कई मामलों में तो ये अदला बदली बचपन में ही कर दी जाती है।

जब लड़कियां बड़ी होती हैं और उन्हें इस बारे में बताया जाता है तो वो सदमे में होती हैं। कई लड़कियां इसी कारण आत्महत्या करने को मजबूर हो जाती हैं। वहीं, कई लड़कियां इसे ही अपनी तकदीर समझ आगे बढ़ने का फैसला करती हैं।

रिश्तेदारों से भी हो जाती है शादी

आटा-साटा कुप्रथा (deaths due to aata sata) में बाल विवाह भी करा दिया जाता है। बच्चों के माता-पिता उनकी उम्र को भी दरकिनार कर देते हैं। इस कुप्रथा में दो परिवारों के बीच लड़की का लेन-देन होता है।

वहीं, कई मामलों में ये भी देखने को मिला जहां एक लड़की के बदले कई रिश्तेदारों की भी शादियां करवा दी जाती हैं। वहीं, कई मामलों में ये तक भी देखने को मिलता है कि एक कम उम्र की लड़की की शादी उसकी उम्र से दोगुने उम्र वाले लड़के के साथ कर दी जाती है।

देर से करते हैं बेटी की शादी

आटा-साटा कुप्रथा में घर के लोग अपने बेटे की शादी कराने के लिए अपनी लड़की की शादी देर से करते हैं। उदाहरण के तौर पर… एक घर में दो भाई बहन हैं। बड़ी बहन और छोटे भाई की उम्र में 7-8 साल का अंतर है।

तो ऐसे में कई परिवार वाले अपनी बेटी की भी शादी तब तक नहीं करते हैं जब तक उनका बेटा भी शादी के लायक ना हो जाए। जब लड़का भी शादी के लायक हो जाता है तो माता-पिता दोनों बच्चों की शादी आटा-साटा से करवा देते हैं। कई मामले तो ऐसे भी सामने आए हैं जिसमें बेटी की शादी उसकी उम्र से बड़े व्यक्ति से कर दी जाती है।

Leave a Comment