अतीक की मौत के बाद भी जिंदा है खौफ, माफिया के खास गुर्गे ने चित्रकूट जेल से मांगी 50 लाख की रंगदारी

अतीक की मौत के बाद भी जिंदा है खौफ माफिया के खास गुर्गे ने चित्रकूट जेल से मांगी 50 लाख की रंगदारी - prayagraj news Fear is alive even after Atiq ahmed

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता)

माफिया अतीक अहमद और अशरफ की हत्या के बाद भी उसके गुर्गों का खौफ कम नहीं हो रहा है। अब चित्रकूट जेल में बंद कुख्यात अपराधी और अतीक के गुर्गे फरहान ने फोन पर प्रापर्टी डीलर मो. अशरफ सिद्दीकी से 50 लाख की रंगदारी मांगी है।

माफिया अतीक अहमद और अशरफ की हत्या के बाद भी उसके गुर्गों का खौफ कम नहीं हो रहा है। अब चित्रकूट जेल में बंद कुख्यात अपराधी और अतीक के गुर्गे फरहान ने फोन पर प्रापर्टी डीलर मो. अशरफ सिद्दीकी से 50 लाख की रंगदारी मांगी है।

15 दिनों में पैसा न मिलने पर पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी। मरियाडीह के प्रधान आबिद ने फरहान को फोन करके अशरफ से बात करवाई है। धूमनगंज पुलिस ने अतीक के खास गुर्गे आबिद, उसके भतीजे जीशान, दानिश व फैजान, अबूबकर, कमर हारुन, जावेद और फरहान के खिलाफ मुकदमा कायम किया है।

रास्ते में किया मारपीट

घटना करीब 28 मई 2023 की बताई गई है। अशरफ सिद्दीकी का आरोप है कि वह अकेले झलवा होते हुए पैतृक गांव में अब्बा को देखने जा रहा था। तभी रास्ते में बच्चा मुंशी का बेटा आबिद प्रधान अपने भतीजे सहित अन्य लोगों के साथ आ गया।

असलहा दिखाते हुए उसे गाड़ी से उतरवा लिया और गाली-गलौज करने लगे। आबिद ने कहा कि इतना पैसा कमा रहे हो, कुछ हम लोगों को भी दो। विरोध करने पर सभी ने मिलकर हमला कर दिया। इसके बाद आबिद ने फरहान भाई को काल किया और मोबाइल उसके कान में लगा दिया।

मांगी थी 50 लाख की रंगदारी

फरहान ने गाली देते हुए कहा कि अगर 15 दिन में 50 लाख रुपये नहीं दिए तो पूरा परिवार जिंदा नहीं बचेगा। अशरफ के हाथ-पैर जोड़ने पर किसी तरह उसे छोड़ा, लेकिन धमकाया कि किसी को कुछ बताने पर जिंदा नहीं छोड़ेंगे।

धमकी से परेशान पीड़ित ने घटना के कई दिन बाद तहरीर दी, जिसके आधार पर मुकदमा लिखा गया है। इंस्पेक्टर धूमनगंज राजेश मौर्या का कहना है कि पीड़ित खेती और प्रापर्टी का काम करता है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

राजू पाल हत्याकांड का आरोपित है फरहान

पुलिस के मुताबिक, चित्रकूट जेल में बंद फरहान मरियाडीह का रहने वाला है। वह बसपा विधायक राजू पाल हत्याकांड में अभियुक्त है। वह अतीक गैंग का सदस्य है और पहले भी आबिद प्रधान से साथ मिलकर आपराधिक घटनाओं को अंजाम देता था। फरहान के खिलाफ विभिन्न थानों में 34 मुकदमे दर्ज हैं।

Leave a Comment