दिल्ली में ब्रिटिश हाई कमीशन के बाहर सिखों का प्रदर्शन:लंदन में तिरंगे के अपमान का विरोध किया, कहा- भारत हमारा स्वाभिमान है

दिल्ली में ब्रिटिश हाई कमीशन के सामने सिखों का प्रदर्शन, लंदन की घटना पर  जताई नाराजगी - Sikhs Protest at British High Commission Delhi Police  protecting gates Outrage over London ...

प्रियंका कुमारी(संवाददाता )

लंदन में रविवार को भारतीय हाई कमीशन में तोड़फोड़ की घटना का विरोध सोमवार को नई दिल्ली में किया गया। लंदन में खालिस्तान समर्थकों ने हाई कमीशन का तिरंगा उतार दिया था। नई दिल्ली में बड़ी तादाद में सिख ब्रिटिश हाई कमीशन के बाहर जुटे और खालिस्तानियों की हरकत का विरोध किया।सिखों ने यहां खालिस्तानियों के खिलाफ बैनर-पोस्टर लहराए और नारेबाजी की। कहा- भारत हमारा स्वा‌भिमान है। इन सिखों के मुताबिक तिरंगे का अपमान किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।अब जानिए लंदन में क्या हुआ था

खालिस्तानी समर्थक अमृतपाल सिंह के खिलाफ पंजाब पुलिस कार्रवाई कर रही है। रविवार को इसका विरोध लंदन में मौजूद कुछ खालिस्तान समर्थकों ने किया। खालिस्तानी लंदन में भारतीय हाई कमीशन पहुंचे। पहले तोड़फोड़ की और बाद में यहां लगा तिरंगा उतार दिया।भारत ने इस पर सख्त ऐतराज जताया। दिल्ली में ब्रिटिश हाई कमिश्नर को तलब किया गया। इस बीच, हाई कमीशन पर अब पहले से ज्यादा बड़ा तिरंगा लगा दिया गया है।लंदन में भारत के हाई कमीशन पहुंचे लोगों के हाथ में खालिस्तानी झंडा और अमृतपाल सिंह के पोस्टर थे। पोस्टर्स पर लिखा, ‘फ्री अमृतपाल सिंह’ (अमृतपाल सिंह को आजाद करो), ‘वी वॉन्ट जस्टिस’ (हमें न्याय चाहिए) और ‘वी स्टैंड विथ अमृतपाल सिंह’ (हम अमृतपाल के साथ हैं)।और दिल्ली में सिखों ने कैसे जवाब दिया नई दिल्ली में प्रदर्शन के लिए पहुंचे सिखों ने कहा- पाकिस्तान की बदनाम खुफिया एजेंसी ISI हमारे देश के अमन-चैन को तबाह करने की साजिश रच रही है। हमने हमेशा अपने तिरंगे का सम्मान किया है और लंदन में हुई हरकत को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।प्रदर्शन में शामिल एक युवा सिख ने कहा- लंदन में जो कुछ हुआ, हम उसका जवाब देने आए हैं। हम ये किसी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेंगे। आज हम हजारों सिख अपने-अपने काम छोड़कर ये बताने आए हैं कि अपने तिरंग का निरादर सहन नहीं करेंगे। वी लव अवर इंडिया- भारत माता की जय।विदेश मंत्रालय ने विरोध जताया
भारत के विदेश मंत्रालय ने घटना सख्त विरोध जताया। कहा- हाई कमीशन के बाहर सुरक्षा क्यों नहीं थी। खालिस्तानी अंदर कैसे घुस गए। ब्रिटेन में हमारे डिप्लोमैट्स और एम्बेसी की सुरक्षा को लेकर ब्रिटिश सरकार का यह रवैया बर्दाश्त के बाहर है। यह वियना कन्वेंशन के नियमों का उल्लंघन है। हमें उम्मीद है कि इस पर फौरन एक्शन लेते हुए आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।प्रदर्शन कर रहे लोगों ने नारेबाजी भी की
वायरल वीडियो में प्रदर्शनकारियों को नारेबाजी करते हुए भी सुना जा सकता है। वो भारत सरकार के खिलाफ नारे लगा रहे हैं। लंदन में स्थित भारतीय हाई कमीशन के बाहर हुए हंगामे की खबर मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। वहीं, घटना के बाद भारत में ब्रिटिश हाई कमिश्नर एलेक्स एलिस ने इसकी निंदा की। उन्होंने कहा- यह सहन नहीं किया जाएगा। मैं ब्रिटेन में भारतीय हाई कमीशन के लोगों और परिसर में हुए हंगामे की निंदा करता हूं।पुलिस अमृतपाल के 114 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी
दरअसल, पंजाब के अजनाला थाने पर हमले के आरोपी अमृतपाल को पकड़ने के लिए पुलिस ने पिछले तीन दिन से राज्य के अलग-अलग हिस्सों में अभियान चला रखा है। रविवार को अमृतपाल के 34 और साथियों को गिरफ्तार किया। अब तक पुलिस 114 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। अमृतपाल के समर्थकों ने दावा किया कि उसे देर रात पुलिस ने हिरासत में ले लिया। हालांकि, पुलिस ने इनकार कर दिया।इंग्लैंड में बैठे खालिस्तानी का शागिर्द है अमृतपालपंजाब पुलिस की शुरुआती जांच के मुताबिक, अमृतपाल का नाम अवतार सिंह खंडा के साथ जुड़ रहा है। अवतार पाकिस्तान में छिपकर बैठे बब्बर खालसा के प्रमुख परमजीत सिंह पम्मा का खास है और ‘बब्बर खालसा UK’ को ऑपरेट करता है।पुलिस को इनपुट मिले हैं कि बब्बर खालसा इन दिनों प्रोजेक्ट K2 पर काम कर रहा है। इसके तहत कश्मीर में भड़काऊ गतिविधियों के साथ-साथ पंजाब में एक बार फिर से खालिस्तान मूवमेंट खड़ी करने की साजिश है। पंजाब में खालिस्तान मूवमेंट को दोबारा जिंदा करने के मकसद से ही बब्बर खालसा इंटरनेशनल के प्रमुख परमजीत सिंह पम्मा और अवतार सिंह खंडा ने अमृतपाल को पंजाब भेजा था।

Leave a Comment

[democracy id="1"]