मतदाताओं को सहेजने निकली BJP की बस्ता टोली, पदाधिकारी भी कर रहे जनसंपर्क

Advertisement

Gorakhpur MLC Chunav: मतदाताओं को सहेजने निकली बस्ता टोली। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

विनीत माहेश्वरी (संवादाता)

Gorakhpur Faizabad graduate MLC election: चंद घंटे बाद होने वाले गोरखपुर-फैजाबाद स्नातक एमएलसी चुनाव के मतदान को लेकर जिले की राजनीतिक सक्रियता बढ़ गई है। मतदाताओं को सहेज कर मतदान केंद्र पर पहुंचाना सुनिश्चित करने को सभी पार्टियों के पदाधिकारी से लेकर कार्यकर्ता सड़क पर उतर गए हैं। भाजपा ने मतदाताओं को सहेजने के लिए बाकायदा बस्ता टोली बना दी है और उस टोली को बस्ते से लैस कर दिया है।

Advertisement

बूथ संयोजक को बनाया गया टोली का प्रमुख

बस्ता टोली का प्रमुख बूथ संयोजक को बनाया गया है और सहयोगी के तौर पर उसे चार सह संयोजक दिए गए हैं। इसके अलावा दो एजेंट और पांच वोटर प्रेरकों को भी टोली में शामिल किया गया है। ये टोली केवल मतदान को लेकर दो दिन की गतिविधि के लिए बनाई गई है। टोली को बस्ते में वोटर पर्ची, वोटर लिस्ट, एजेंट पर्ची, पार्टी का छोटा बैनर, पेन और पैड शामिल है। यह टोली मतदान स्थल संचालन समिति की भूमिका भी निभाएगी।

टोली ने बढ़ाई सक्रियता

बस्ता टोली ने गठन के बाद ही अपनी सक्रियता बढ़ा दी है। बीच-बीच में छोटी-छोटी बैठकों के जरिये टोली में मार्गदर्शन देने और उत्साह भरने का काम वरिष्ठ पदाधिकारी कर रहे हैं। महानगर चुनाव प्रभारी बृजेश मणि मिश्र ने बताया कि महानगर में कुल 26 बूथ हैं। सभी बूथों की बस्ता टोली को बस्ता दे दिया गया है।

जनसंपर्क कर रहे पदाधिकारी, आइटी योद्धा लगा रहे कॉल

भाजपा के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने मतदाताओं को सहेजने के लिए सुबह से जनसंपर्क करना शुरू कर दिया। क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ. धर्मेंद्र सिंह, क्षेत्रीय प्रभारी अनूप गुप्ता, महानगर चुनाव प्रभारी बृजेश मणि मिश्र, विधायक प्रदीप शुक्ला आदि ने स्कूलों में जाकर मतदाताओं से संपर्क किया। उधर, आइटी योद्धा फोन काल के जरिये मतदाताओं को मतदान केंद्रों तक जाने के लिए प्रेरित करते रहे। इंटरनेट मीडिया पर पार्टी कार्यकर्ताओं की सक्रियता शनिवार को खूब देखने को मिली।

मतदाता कर्मचारियों का कल रहेगा अवकाश

अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राजेश कुमार सिंह ने बताया कि जो कर्मचारी स्नातक हैं और गोरखपुर-फैजाबाद खंड स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के मतदाता हैं, उन्हें मतदान के दिन 30 जनवरी को एक दिन का विशेष आकस्मिक अवकाश प्रदान किया जाएगा, जिससे वे अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकें। उन्होंने बताया कि यह आदेश सभी विभागों, स्थानीय निकायों एवं अर्द्धशासकीय विभागों के कर्मचारियों पर लागू होगा।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer