आज निवेशक हुए मालामाल, रिकॉर्ड उछाल के साथ बंद हुआ मार्केट

Today investors is in profit share market closed with a record jump sensex  and nifty | आज निवेशक हुए मालामाल, रिकॉर्ड उछाल के साथ बंद हुआ मार्केट -  India TV Hindi

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता) 

हफ्ते के पहले कारोबारी दिन सोमवार को भारतीय शेयर बाजार की मजबूत शुरुआत हुई। मार्केट बंद होते वक्त तक तेजी बरकरार रही। सेंसेक्स 846 अंकों की तेजी के साथ  60,747 पर तथा निफ्टी 250 प्वाइंट चढ़कर  19,048 पर कारोबार बंद किया।बीएसई सेंसेक्स 569.86 अंक की तेजी के साथ 60,470.23 अंक पर पहुंच गया। वहीं, एनएसई निफ्टी 50 164.35 अंक की मजबूती के साथ 18,023.80 अंक पर पहुंच गया। आज सेंसेक्स में शामिल 30 में से 26 शेयरों में तेजी और सिर्फ 4 में गिरावट देखने को मिल रही है। सुबह जिन शेयरों में गिरावट देखी जा रही थी, उनमें मारुति, एचयूएल, टाइटन और आईसीआईसीआई शामिल थे। निफ्टी की बात करें तो 50 में से 46 शेयरों में तेजी और 4 में गिरावट देखने को मिली। भारतीय बाजार को आज वैश्विक बाजार से सपोर्ट मिला है। अमेरिका, यूरोपीय समेत एशिायाई बाजार में तेजी लौटी है। इससे भारतीय बाजार शेयर का मूड भी बदला है और तेजी लौटी है। साल 2023 के पहले हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को शेयर बाजार में जबरदस्त गिरावट दर्ज की गई। 452 अंकों की कमजोरी के साथ सेंसेक्स 60 हजार के नीचे जा पहुंचा। वही हाल निफ्टी का भी देखने को मिला। 138 प्वाइंट लुढक कर निफ्टी ने 18,798 पर बाजार बंद किया था। डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, दो से छह जनवरी के दौरान एफपीआई ने भारतीय शेयर बाजारों से शुद्ध रूप से 5,872 करोड़ रुपये निकाले हैं। वास्तव में एफपीआई पिछले लगातार 11 सत्रों से बिकवाल बने हुए हैं। इस दौरान उन्होंने 14,300 करोड़ रुपये के शेयर बेचे हैं। इससे पहले एफपीआई ने दिसंबर में शेयरों में 11,119 करोड़ रुपये और नवंबर में 36,239 करोड़ रुपये डाले थे। कुल मिलाकर बीते साल यानी 2022 में एफपीआई ने भारतीय शेयर बाजारों से शुद्ध रूप से 1.21 लाख करोड़ रुपये की निकासी की है। अमेरिकी फेडरल रिजर्व तथा अन्य केंद्रीय बैंकों द्वारा आक्रामक तरीके से ब्याज दरों में वृद्धि, कच्चे तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव, जिंसों के ऊंचे दाम और रूस-यूक्रेन युद्ध की वजह से बीते साल एफपीआई बिकवाल रहे।उन्होंने कहा कि वैश्विक रुझान, रुपये का उतार-चढ़ाव, ब्रेंट कच्चे तेल के दाम और विदेशी कोषों का रुख भी बाजार के लिए महत्वपूर्ण रहेगा। मीणा ने कहा कि तिमाही नतीजों के सीजन की शुरुआत आईटी कंपनियों के साथ होगी। सप्ताह के दौरान टीसीएस, इन्फोसिस और एचसीएल टेक अपने तिमाही नतीजों की घोषणा करेंगी। बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 940.37 या 1.55 प्रतिशत के नुकसान में रहा। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 245.85 अंक या 1.6 प्रतिशत टूटा।

Leave a Comment