Iran Hijab Protest: ईरान में दो लोगों को दी गई फांसी, सरकार विरोधी प्रदर्शनों में शामिल हुए थे युवक

Iran Hijab Protest: ईरान में दो लोगों को दी गई फांसी, सरकार विरोधी  प्रदर्शनों में शामिल हुए थे युवक - Iran hangs two men for alleged crimes  committed during protests

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता)

तेहरान,: ईरान ने सरकार विरोधी प्रदर्शनों में हिस्सा लेने के लिए दो लोगों को फांसी दे दी गई है। न्यायपालिका ने कहा कि ईरान ने देश भर में विरोध प्रदर्शन के दौरान कथित तौर पर एक सुरक्षा अधिकारी की हत्या करने के दोष में शनिवार को दो लोगों को फांसी दे दी। इनकी पहचान मोहम्मद मेहदी (22) और सैय्यद मोहम्मद हुसैनी (20) के रूप में हुई है।

23 साल के युवक को फांसी

हाल ही में 23 साल के एक युवक को ईरान में फांसी दी गई थी। मौत की सजा से पहले युवक ने जो कहा उसे लेकर खूब चर्चा हुई। युवक ने लोगों से अपकी कब्र पर कुरान ना पढ़ने की अपील की थी। युवक ने कहा था कि उसकी मौत पर कोई शोक ना मनाए। युवक को ईरानी पुलिस ने सरकार विरोधी प्रदर्शनों में शामिल होने के आरोप में पकड़ा था। कोर्ट के फैसले के बाद लोगों में दहशत फैलाने के लिए ईरानी सरकार ने मजीदरेजा रहनवरद नाम के इस लड़के को मशहद शहर में सरेआम फांसी पर लटका दिया था। ईरान में पिछले कुछ दिनों में 10 से अधिक लोगों को फांसी की सजा दी जा चुकी है।

मोहसिन शेकरी को दी गई फांसी

मजीदरेजा रहनवरद से पहले 23 साल के ही मोहसिन शेकरी नाम के एक युवक को फांसी दी गई थी। मोहसिन शेकरी पर सरकार विरोधी प्रदर्शनों में सुरक्षाबलों के एक सदस्य को घायल करने का आरोप था। शेकरी की फांसी की सजा का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विरोध हुआ था। इसके बावजूद ईरानी सरकार ने अंतरराष्ट्रीय विरोध की परवाह ना करते हुए मोहसिन शेकरी को फांसी दे दी थी।

महिसा अमीनी की मौत के बाद ईरान में बवाल

बता दें कि तेहरान में कुर्दिश महिला महिसा अमीनी की ड्रेस कोड के उल्लंघन में गिरफ्तारी और पुलिस हिरासत में मौत के बाद से ईरान में उग्र विरोध जारी है। इससे निपटना ईरान सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती है। आंदोलन के समर्थन में ईरान के छात्रों, महिलाओं और युवाओं ने जान की परवाह किए बिना विरोध प्रदर्शन किए।

Leave a Comment