गालिब के जीवन एवं शायरी पर आधारित 'गुफ्तगू' कार्यक्रम का आयोजन

Advertisement

Best [65+] Ghalib Shayari | Mirza Ghalib Shayari | Sirf Shayari

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता ) 

Advertisement

अजमेर, 28 नवंबर राजस्थान के अजमेर में मशहूर उर्दू शायर मिर्जा गालिब के जीवन
एवं शायरी पर आधारित 'गुफ्तगू' कार्यक्रम आयोजित किया गया।
अजमेर के वैशाली नगर स्थित अजयमेरू प्रेस क्लब सभागार में रविवार शाम आयोजित गुफ्तगू
कार्यक्रम में पत्रकार, लेखक व चित्रकार विनोद भारद्वाज ने मिर्जा गालिब के जिंदगीनामे पर लिखी
अपनी पुस्तक 'गली कासिम जान' पर अपने विचार व्यक्त किए। मिर्जा गालिब के जीवन से जुड़े कई
रोचक किस्सों व अनछुए प्रसंगों पर प्रकाश डाला गया।
उन्होंने बताया कि मिर्जा गालिब जैसे मशहूर शायर के जीवन पर अलीगढ़ व रामपुर जैसे ख्यातनाम
पुस्तकालयों में भी पूरा साहित्य उपलब्ध नहीं है। दिल्ली के चांदनी चौक स्थित उनकी हवेली की

जिंदगीनामे का सफर बनारस, इलाहाबाद, दिल्ली, लखनऊ से जुड़ा है और गालिब पसंदीदा जगह
काशी रही है।
कार्यक्रम में मौजूद पद्मश्री डॉ. सीपी देवल ने अपने उद्बोधन में कहा कि मिर्जा गालिब पहले से
ज्यादा आज प्रासंगिक है। इंतकाल के बाद उनकी लोकप्रियता मे इजाफा हुआ है और युवाओं में उनके
प्रति रुचि बढ़ी है। कार्यक्रम में अनेक जाने माने साहित्यकार राम जयसवाल, गोपाल गर्ग, बख्शीश
सिंह, रासबिहारी गौड़ भी मौजूद थे। क्लब के अध्यक्ष डॉ रमेश अग्रवाल ने सभी का आभार व्यक्त
किया।
उल्लेखनीय है कि मिर्जा गालिब की 225वीं जयंती 27 दिसंबर को है और इससे ठीक एक माह पहले
प्रेस क्लब में 27 नवंबर को यह आयोजन कर गालिब को याद किया गया।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer