मोबाईल न जमा करने पर छात्रों की हुई पिटाई

bal sudhar grah raid objectionable items including 12 mobiles recovered  security video call - बाल सुधार गृह में छापेमारी, 12 मोबाइल सहित कई  आपत्तिजनक सामान बरामद; वीडियो कॉल से दिखाई ...

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता)

कुशीनगर, 13 अक्टूबर उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जनपद के चर्चित विद्यालयो मे शुमार
सेंट थ्रेसस स्कूल के प्रधानाचार्य (फादर) ने शिक्षा अधिकार कानून की धज्जियाँ उडाते हुए छात्रों की
इस कदर बेरहमी से पीटाई की है कि दो छात्र लखनऊ हास्पिटल मे जिन्दगी और मौत से जूझ रहे
है। इतना ही नही फादर ने छात्रो को यह धमकी भी दी है कि अगर किसी छात्र ने इसकी शिकायत
अपने घर की तो न सिर्फ़ उस छात्र का नाम काटकर स्कूल से निकाल दिया जायेगा बल्कि उन छात्रों
का कैरेक्टर सटिर्फिकेट खराब कर उसकी जिन्दगी बर्बाद कर दी जाएगी। इसको लेकर छात्रों मे
आक्रोश व्याप्त है। छात्रो ने पुलिस अधीक्षक को पत्र सौपकर घटना जानकारी देते हुए न्याय की गुहार
लगाई है। यह स्कूल पडरौना नगर के भरवलिया मे स्थित है।

कहना न होगा कि इन छात्रों का कसूर बस इतना है कि विद्यालय द्वारा स्कूली बच्चों को नैनीताल
ले गये टूर मे कुछ छात्र अपने साथ मोबाइल फोन लेकर गये थे। छात्रो की माने तो अपने साथ
मोबाइल ले जाने के पीछे उद्देश्य बस इतना था कि वह अपने अभिभावकों से समय समय पर बात
करते रहेगे और नैनीताल के मनमोहक दृश्य को अपने मोबाइल मे फोटो लेगें। लेकिन यह बात सेंट
थ्रेसस स्कूल के प्रधानाचार्य ;फादर जान जोसफ कटापल्ली को नागवार लगी और वह छात्रो के इस
गलती पर उन्हें बेरहमी से मारने-पीटने के बाद उनका मोबाइल तोड दिया। बताया जाता है कि जोसफ
कटापल्ली की मार से दो छात्र लखनऊ हास्पिटल मे इलाज करा रहे हैं।
छात्रों द्वारा पुलिस अधीक्षक कार्यालय मे दिये गये शिकायती पत्र पर गौर करे तो छात्रों का कहना है
कि 8 अक्टूबर को विद्यालय कैम्पस से प्रधानाचार्य जान जोसफ कटापल्ली सहित कुल नौ अध्यापकों
के साथ 96 छात्र नैनीताल टूर पर गये थे। 9 अक्टूबर को नैनीताल पहुचने के बाद अध्यापकों ने
सभी बच्चों से मोबाइल जमा करने का निर्देश दिया। जिसके अनुपालन मे बीस छात्रों ने अपना
मोबाइल शिक्षक के पास जमा कर दिया। इसी दरम्यान प्रधानाचार्य जान जोसफ कटापल्ली पहुचे गये
और उन्हे बेरहमी से मारने पीटने लगे। एसपी को संबोधित पत्र मे छात्रों ने कहा है कि जोसफ
कटापल्ली के बेरहमी से मारने के कारण सोलह वर्षीय आर्दश पाण्डेय व रितुराज जायसवाल बेहोश
होकर गिर गया जबकि मनोज पाण्डेय व आदित्य धनराज गंभीर रूप से घायल हो गये। जिनका
लखनऊ स्थित हास्पिटल मे इलाज चल रहा है। छात्रों ने बताया कि अतुल वर्माए अनुराग कुशवाहा
और विवेक चौधरी भी काफी चोटिल है। पीडित छात्रों ने पुलिस अधीक्षक से मामले की निष्पक्ष जांच
कराकर दोषी प्रधानाचार्य जान जोसफ कटापल्ली के विरुद्ध कार्रवाई करने की गुहार लगायी है।

Leave a Comment