अमेरिका : भारतीय मूल के सिख परिवार को मारने के संदिग्ध पर हत्या के चार आरोप लगाए

California Sikh Family Murder Suspect Jesus Manuel Salgado Sent Them "Angry  Texts" Last Year, Say Relatives

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता)

सैन फ्रांसिस्को (अमेरिका), 11 अक्टूबर अमेरिका में आठ महीने की बच्ची समेत
भारतीय मूल के सिख परिवार के अपहरण एवं हत्या में संलिप्त व्यक्ति पर हत्या के चार आरोप
लगाए गए हैं। कैलिफोर्निया में अधिकारियों ने यह जानकारी दी।
आरोपी जीसस सलगाडो कई साल पहले इस परिवार की एक ट्रक कंपनी में काम करता था। आरोपी
ने सिख परिवार की आठ महीने की बच्ची आरूही धेरी, उसकी मां 27 वर्षीय जसलीन कौर, उसके
पिता 36 वर्षीय जसदीप सिंह, जसदीप के भाई 39 वर्षीय अमनदीप सिंह समेत चार लोगों का
अपहरण कर लिया था और उनकी हत्या कर दी थी।
जीसस सलगाडो पर आरोप है कि उसने तीन अक्टूबर को बंदूक का भय दिखाकर परिवार का
अपहरण कर लिया था। सलगाडो को छह अक्टूबर को गिरफ्तार कर लिया गया था। ‘लॉस एंजिलिस
टाइम्स’ ने अभियोजकों के हवाले से बताया कि सोमवार को उस पर ‘फर्स्ट डिग्री मर्डर’ के चार आरोप
लगाए गए।
मर्सिड काउंटी के डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी के कार्यालय ने एक समाचार विज्ञप्ति में कहा कि वह अभी यह
तय नहीं करेगा कि 48 वर्षीय सलगाडो के मामले में मौत की सजा का अनुरोध किया जाए या नहीं।
डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी किम्बर्ली लुईस ने आरोपों से परे मामले पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।
गौरतलब है कि सिख परिवार के लापता होने की जांच तीन अक्टूबर को शुरू हुई जब पुलिस ने विंटन
शहर में अमनदीप के ट्रक को जलते हुए देखा था। जब परिवार के सदस्य अमनदीप या उसके भाई
और भाभी या दंपति की बच्ची का पता नहीं लगा सके, तो उन्होंने परिवार के लापता होने की सूचना
दी। जांच के दौरान वीडियो खंगालने के दौरान एक वीडियो में संदिग्ध को बंदूक की नोक पर परिवार
का अपहरण करते और ट्रक में ले जाते हुए देखा गया।
इस बीच, भारतीय मूल के चार सिखों के शोक संतप्त रिश्तेदारों ने कैलिफोर्निया में उनके परिवारों
और भारत में रह रहे उनके बुजुर्ग माता-पिता की मदद के लिए 3,00,000 डॉलर से अधिक की
धनराशि जुटाई है। अमनदीप की पत्नी जसप्रीत कौर ने रकम जुटाने के अभियान के दौरान कहा कि
उनके पति और जसदीप 18 साल से अमेरिका में थे और उन्होंने न केवल कैलिफोर्निया में अपने
परिवारों का बल्कि भारत में अपने बुजुर्ग माता-पिता का भी सहयोग किया।

Leave a Comment