इंदौर में बनेगा लता दीदी की याद में संग्रहालय, प्रतिमा भी होगी स्थापितः शिवराज

Advertisement

शैलेन्द्र सिंह, आनंद-मिलिंद और कुमार शानू राष्ट्रीय लता मंगेशकर सम्मान से  सम्मानित - हिन्दुस्थान समाचार

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता )

Advertisement

भोपाल, 29 सितंबर इंदौर के ब्रिलियंट कंवेंशन सेंटर में बुधवार देर शाम आयोजित
राष्ट्रीय लता मंगेशकर सम्मान और अलंकरण समारोह में पार्श्वगायक शैलेन्द्र सिंह, संगीत निर्देशक
आनंद-मिलिंद और पार्श्वगायक कुमार शानू को राष्ट्रीय लता मंगेशकर सम्मान से सम्मानित किया

गया। अलंकरण समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वर्चुअली संबोधित किया। उन्होंने कहा
कि परम श्रद्धेय लताजी सिर्फ गायिका नहीं थी, वे भारत के इतिहास में दर्ज एक महान व्यक्तित्व
हैं। उन्होंने अपने अद्भुत गायन से कई पीढ़ियों को दीवाना बनाया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इंदौर में लता दीदी की प्रतिमा स्थापित की जाएगी। साथ ही एक ऐसे
संग्रहालय का निर्माण किया जाएगा, जिसमें लता जी के गीत और स्मृतियों का संग्रह होगा। यही नहीं
लता जी के नाम से संगीत अकादमी और संगीत महाविद्यालय भी प्रारंभ किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि आज लता जी के बिना संगीत सूना और गीत अधूरे हैं। लता जी के गीत उनकी
देशभक्ति और संस्कार युगों-युगों तक जीवित रहेंगे। उन्होंने कहा कि वे सभी यात्राओं में अकसर लता
जी के गीत ही सुनते हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने आज के अलंकरण समारोह में सम्मनित विभूतियों
शैलेंद्र सिंह, आनंद मिलिंद और कुमार शानू को बधाई देते हुए उनका अभिनन्दन किया।
समारोह में प्रदेश की संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि गीत और संगीत परमात्मा के पर्याय हैं।
सुख शांति और संतुष्टि प्रदान करने में संगीत की अहम भूमिका है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
की मंशानुरूप इंदौर के संगीत महाविद्यालय को स्वर सम्राज्ञी लता मंगेशकर जी के नाम पर किया
जा रहा है। अब यह विद्यालय लता मंगेशकर संगीत महाविद्यालय के नाम से जाना जाएगा। स्वर
सम्राज्ञी लता मंगेशकर को नमन करते हुए और उनके कार्यों को आगे बढ़ाते हुए संस्कृति विभाग
संगीत और कला के संरक्षण और संवर्धन के लिए सदैव कार्य करता रहेगा।
अलंकरण समारोह में राष्ट्रीय लता मंगेशकर सम्मान वर्ष 2019 का पार्श्व गायन के लिये शैलेन्द्र
सिंह, वर्ष 2020 का संगीत निर्देशन के लिये आनंद-मिलिंद और वर्ष 2021 का पार्श्व गायन के लिये
कुमार शानू को प्रदान किया गया। संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने अवार्ड वितरित किये। अलंकरण
समारोह के बाद संगीत संध्या का आयोजन हुआ, जिसमें सुप्रसिद्ध गायिका अलका याज्ञनिक एवं
ग्रुप, मुम्बई द्वारा संगीतमई और सुमधुर गीतों की प्रस्तुति दी गई। समारोह में अलका याग्निक ने
कुमार सानु के साथ लोकप्रिय गीत प्रस्तुत कर समां बांध दिया।
इससे पहले पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर, विधायक रमेश मेंदोला तथा मालिनी गौड़, महापौर
पुष्यमित्र भार्गव, पूर्व महापौर कृष्णमुरारी मोघे, संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा, अलाउद्दीन खां
संगीत एवं कला अकादमी के निदेशक जयंत कुमार भिसे ने राष्ट्रीय लता मंगेशकर अलंकरण समारोह
का दीप प्रज्ज्वलन कर शुभारंभ किया।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer