कमला मार्केट में 15 लाख की चोरी का सीसीटीवी फुटेज आया सामने

Advertisement

दुकान की चाभी ऑनर के पास, देर रात हो गई वारदात, 5 मिनट में ले गया 15 लाख

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता)

नई दिल्ली, 14 सितंबर सेंट्रल दिल्ली के कमला मार्केट में लाखों की चोरी का एक
सनसनीखेज मामला सामने आया है। इस वारदात की सीसीटीवी फुटेज भी पीड़ित दुकानदार ने
निकाली है, जिसमें साफ दिख रहा है कि चोर ने देर रात चोरी छुपे उनकी दुकान पर आरोपी पहुंचा
और मात्र पांच मिनट में 15 लाख से ज्यादा की रकम को चोरी करके फरार हो गया। सोमवार सुबह
इस वारदात के बारे में जब पीड़ित दुकानदार प्रदीप भाटिया को पता चला तब उन्होंने इसकी सूचना
पुलिस को दी। इनका आरोप है कि पुलिस ने कोई मदद नहीं की। एफआईआर दर्ज करने में भी काफी
आनाकानी की, जबकि सारी घटना के बारे में विस्तृत जानकारी दे दी गई थी।
प्रदीप भाटिया कमला मार्केट ट्रेडर्स एसोसिएशन के प्रेसिडेंट भी हैं। इनका आरोप है कि घटना के दो
दिनों के बावजूद एसएचओ कमला मार्किट ने मुलाकात तक करने की नहीं सोची। जबकि कई बार
हमलोग थाने मिलने जा चुके हैं। काफी मशक्कत के बाद एफआईआर दर्ज किया गया। आज इस
मामले पर डीसीपी सेंट्रल से मिलकर अपनी शिकायत और समस्या रखेंगे। इनका कहना है कf जिस
युवक पर शक है, उसको पुलिस बुलाकर पूछताछ नहीं कर पा रही है।
प्रदीप भाटिया के अनुसार शनिवार रात को करीब 8:00 बजे के आसपास वह अपनी दुकान बंद करके
घर चले गए थे। रविवार को छुट्टी रहती है, तो सोमवार को सुबह 10:00 बजे जब वह दुकान खोलने
पहुंचे तो उन्होंने ताला खोला। जैसे ही अंदर गए तो जिस बैग में वह कैश रखते हैं, वह बैग गायब
था। पहले तो उन्हें समझ में नहीं आया कि बैग कहां गया? जब काफी खोजबीन के बाद भी नही
मिला, तो उन्होंने पीसीआर को कॉल किया।उन्होंने बताया की जब खुद दुकान का ताला खोला तो
चोरी कैसे हो सकती है? पीछे वाले गेट की तरफ जाकर देखा तो वहां भी शटर बंद था। ऊपर जो
खिड़क लगी हुई थी वह भी अपने जगह सही सलामत थी। इसके बाद उनका शक अपने यहां काम
करने वाले उस नौकर पर पड़ा जो कुछ दिन पहले गांव जाने का बात कहकर छुट्टी पर गया था।
जब सबने मिलकर सीसीटीवी फुटेज को चेक किया तो वारदात के बारे में पता चला कि कैसे घटना
को अंजाम दिया गया है।

शनिवार रात एक शख्स 12:42 पर वहां पहुंचा और 12:47 पर बैग ले करके निकलता हुआ दिखाई
दिया है। प्रदीप भाटिया को शक है कि पुराने नौकर जिसके पास दुकान की चाभी रहती थी, उसने
डुप्लीकेट चाबी बनवाकर तीसरे शख्स को दे दिया होगा। वारदात को अंजाम दिलवाने से पहले गांव
जाने का बहाना बनाकर छुट्टी लेकर चला गया। अब इनको इंतजार है कि कब पुलिस इस मामले में
पूछताछ करके आरोपी तक पहुंचती है। पीड़ित दुकानदार प्रदीप भाटिया के घर में एक महीने के बाद
नवंबर में बच्चों की शादी होनी है। इसके लिए उन्होंने पैसे इकट्ठा करना शुरू किया था, जिससे
खरीददारी कर सके। इस घटना से प्रदीप भाटिया का परिवार और आसपास के दुकानदार भी सदमे में
है कि इस तरह की घटना अचानक हुई लेकिन पुलिस की तरफ से कोई भी मदद नहीं की जा रही है।

 

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer