कुशीनगर जिला प्रशासन जनप्रतिनिधियों की समस्याओं से हुआ अवगत, निदान का दिया भरोसा

Advertisement

kushinagar news, Kushinagar News: कुशीनगर में शामिल होंगे महराजगंज जिले के  8 गांव, डीएम ने शासन को भेजा पत्र - 8 village of maharajganj district will  be included in kushinagar dm sent

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता)

कुशीनगर, 14 सितंबर  उत्तर प्रदेश के कुशीनगर के जिलाधिकारी एस. राजलिंगम की
अध्यक्षता में जनप्रतिनिधिगणों के साथ बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न की गई। जनपद स्तरीय
अधिकारी व जनप्रतिनिधिगणों की बैठक प्रत्येक महीने के द्वितीय बुधवार को आयोजित की जाती है।
इस क्रम में माननीय जनप्रतिनिधिगणों द्वारा अपने क्षेत्र की समस्याओं से अधिकारियों को अवगत
कराया जाता है।
इस क्रम में सर्वप्रथम बैठक में पिछली कार्य वृत्ति के निस्तारण की चर्चा हुई। जनप्रतिनिधियों द्वारा
पिछली बैठक में उठाए गए प्रश्नों में विद्युत विभाग से संबंधित प्रश्नों का उत्तर देते हुए अधीक्षण
अभियंता विद्युत विभाग द्वारा अवगत कराया गया कि वर्तमान में जनपद में ग्रामीण क्षेत्रों में
औसतन 17 घंटे विद्युत की आपूर्ति दी जा रही है। आपातकालीन कटौती को छोड़कर शेड्यूल के
अनुसार प्राप्त विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है, तथा पूर्व में प्रतिदिन चार अदद ट्रांसफार्मर
के सापेक्ष वर्तमान में 10 से अधिक ट्रांसफार्मर की मरम्मत की जा रही है जिससे 48 घंटे से अधिक
समय की क्षतिग्रस्त ट्रांसफार्मर को परिवर्तन करने की लंबित संख्या शून्य है।
गन्ना शोध संस्थान सेवरही में पानी की टंकी के मोटर के जल जाने की समस्याओं को लेकर जिला
गन्ना अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि नए नलकूप का प्राक्कलन तैयार करा लिया गया है
जिस पर बजट की मांग की गई है। विद्युत विभाग के अधिकारियों द्वारा फोन ना उठाए जाने की
समस्या के संदर्भ में अधीक्षण अभियंता विद्युत ने बताया कि समस्त अधिकारियों को प्रत्येक कॉल
को उठाने अथवा कॉल बैक करने हेतु कड़े निर्देश दिए गए हैं। ऐसी शिकायत पर एक अवर अभियंता
पर निलंबन की कार्यवाही भी की जा रही है।
जर्जर सड़क की समस्याओं पर अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग द्वारा अवगत कराया गया
कि कुछ स्थलों पर कार्य प्रगति पर है तथा कुछ जगह कार्य पूर्ण करा दिए गए हैं।पिछले कार्यवृति पर
चर्चा उपरांत जनप्रतिनिधिगणों ने वर्तमान समस्याओं से जिलाधिकारी व जनपद स्तरीय अधिकारी
गणों को अवगत कराया। इस क्रम में कप्तानगंज गन्ना बिल भुगतान, सड़कों की समस्या, ड्रेन
समस्या, पानी की टंकी से सप्लाई बाधित होने की समस्या, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों की जर्जर
स्थिति, ट्रांसफार्मर बदलने की समस्या, विद्युत विभाग के कर्मचारियों द्वारा वसूली का आरोप, जर्जर
तार बदले जाने की सूचना उपलब्ध करवाना, बोरिंग आदि की समस्याएं उठाई गई।
जिलाधिकारी ने समस्त उपस्थित अधिकारीगणों को निर्देशित करते हुए कहा कि जनप्रतिनिधियों
द्वारा उठाई गई समस्याओं को प्राथमिकता से लें, उनका समय निस्तारण कराएं, उनके द्वारा किए
गए फोन को गंभीरता से लें, निर्धारित समयावधि में जांच कराएं व पाक्षिक समीक्षा करें। उन्होंने
उपस्थित जनप्रतिनिधियों को आश्वस्त करते हुए कहा कि उठाए गए सभी विन्दुओं का समयबद्ध
निस्तारण किया जाएगा।
इस अवसर पर विधायक खड्डा विवेकानंद पांडेय, विधायक रामकोला विनय गौड़, विधायक पडरौना
मनीष जायसवाल, विधायक फाजिलनगर सुरेंद्र सिंह कुशवाहा, विधायक तमकुही राज असीम राय,

सांसद देवरिया प्रतिनिधि राधेश्याम पांडेय, जनप्रतिनिधि सुधीर राव, मुख्य विकास अधिकारी गुंजन
द्विवेदी, परियोजना निदेशक जगदीश त्रिपाठी, डीसी मनरेगा राकेश कुमार, जिला पंचायती राज
अधिकारी अभय यादव समेत समस्त संबंधित विभागों के विभागाध्यक्ष व अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer