गौतमबुद्ध नगर के डीएम और तीनों प्राधिकरण के सीईओ समेत कई अफसरों को एनजीटी ने किया तलब

Advertisement

NGT summoned these officers including DM of Gautam Budh Nagar and CEO of  all three authorities know why | गौतमबुद्ध नगर के डीएम और तीनों प्राधिकरण  के सीईओ समेत इन अफसरों को

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता)

नोएडा, 14 सितंबर नोएडा से इस समय की बड़ी खबर सामने आ रही है। एनजीटी कोर्ट
ने गौतमबुद्ध नगर के डीएम, तीनों प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और यूपीपीसीबी को
तलब किया है। इन सभी अधिकारियों को आगामी 12 अक्टूबर को व्यक्तिगत रूप से एनजीटी कोर्ट
में उपस्थित होना पड़ेगा। यह एक्शन गौतमबुद्ध नगर के 208 तालाबों पर अतिक्रमण के मामले में
लिया गया है।
3 सालों में 90 तालाबों पर कब्जा
दरअसल, एनजीटी कोर्ट ने नोएडा और ग्रेटर नोएडा में 209 जलाशयों पर हुए अतिक्रमण को लेकर
यह एक्शन लिया है। वर्ष 2017 तक जिले में 119 तालाबों पर कब्जा किया गया था। उसके बाद वर्ष
2017 से लेकर 2020 तक जनपद के 90 तालाबों पर कब्जा किया गया है। जिसमें सबसे ज्यादा
दादरी तहसील अंतर्गत पड़ने वाले इलाकों में 131 तालाबों पर कब्जा किया गया है।
इन अफसरों को किया तलब
इन तालाबों के स्थान पर कहीं बिल्डिंग तो कहीं पर आलीशान मकान बने हुए हैं। तमाम दावों के
बावजूद भी अतिक्रमण हटाने में तीनों प्राधिकरण और प्रशासन असफल दिखाई दिया। जिसकी वजह
से अब एनजीटी कोर्ट ने गौतमबुद्ध नगर के डीएम सुहास एलवाई, नोएडा प्राधिकरण की मुख्य
कार्यपालक अधिकारी ऋतु महेश्वरी, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ सुरेंद्र सिंह, यमुना विकास

प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डाक्टर अरुणवीर सिंह और यूपीपीसीबी को भी तलब किया
है।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer