सरकारी योजना के नाम पर तीन लाख की ठगी

Advertisement

fake Government job: 3 lakh rupee cheat: fraud name of getting jobs | सरकारी  नौकरी का झांसा देकर 3 लाख रूपए की ठगी, फर्जी नियुक्ति के दस्तावेज एसओजी ने  किए बरामद | Patrika News

विनीत माहेश्वरी ( संपादक )

Advertisement

गाजियाबाद, 11 सितंबर केंद्र सरकार की योजना के नाम पर स्कूल संचालक से तीन
लाख रुपये की ठगी की गई। पीड़ित ने सिहानी गेट थाना में दो महिलाओं समेत पांच लोगों के
खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया है। स्कूल संचालक के मुताबिक आरोपी रकम लेने के बाद
आरोपियों ने जो प्रोडक्ट दिए, वह नकली निकले। पैसे वापस मांगने पर आरोपी उन्हें झूठे मामले में
जेल भिजवाने की धमकी देने लगे।उसका दावा है कि गिरोह ने केंद्र की योजना का झांसा देकर सैकड़ों
लोगों से लाखों रुपये की ठगी की है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
पटेल नगर के न्यू आर्य नगर निवासी शिव कुमार आर्य नगर में ही डीपीएस किड्स नाम से स्कूल
चलाते हैं। उन्होंने बताया कि उनके हाथ-पैरों में गांठ हैं, जिसका इलाज चल रहा है। उन्हें शुगर की
बीमारी भी है। एक दिन दो महिलाएं और तीन पुरुष उनके घर आए। महिलाओं ने अपना नाम
मीनाक्षी जैन और प्रिया त्यागी बताया। पुरुषों के नाम अतुल जैन, मनोज त्यागी और अमित राणा
थे। पांचों ने उनसे कहा कि वह भारत सरकार की फिट इंडिया योजना के तहत काम कर रहे हैं।
कैंसर, शुगर, गांठ और मोटापे के अलावा गंजेपन की बीमारी से ग्रस्त लोगों को उपचार के लिए
प्रोडक्ट देते हैं। प्रोडक्ट इस्तेमाल करने से बीमारियां जल्दी ही ठीक हो जाती हैं। शिवकुमार का कहना
है कि भरोसा करके उन्होंने तीन लाख रुपये के प्रोडक्ट खरीद लिए। कुछ प्रोडक्ट घर पर डिलीवर कर
दिए गए। बाकी प्रोडक्ट एक-दो दिन में भेजने की बात कही गई। आरोप है कि प्रोडक्ट खाने के बाद
बीमारी से कोई राहत नहीं मिली। उन्होंने बाकी प्रोडक्ट देने के लिए कहा कि मीनाक्षी जैन ने उन्हें
झूठे केस में जेल भिजवाने की धमकी दी और प्रोडक्ट देने से साफ इनकार कर दिया।
जानकार महिला भी ठगी का शिकार हुई
शिवकुमार का कहना है कि जब आरोपी उनके घर आए थे तो परिचित महिला वंदना चौधरी भी उनके
घर पर मौजूद थीं। वह भी आरोपियों के झांसे में आ गईं और उनसे 36 सौ रुपये के दो प्रोडक्ट के
डिब्बे ले लिए। बाद में उन्होंने भी प्रोडक्ट के बेअसर बताया। इसके बाद उन्हें ठगी का अहसास हुआ।
सैकड़ों लोगों से ठगी का अंदेशा
स्कूल संचालक का कहना है कि आरोपियों का एक गैंग है, जो लोगों को सरकार की योजना फिट
इंडिया के नाम पर ठगते हैं। लोगों को प्रभावित करने के लिए वह फर्जी पेपर दस्तावेज दिखाते हैं।
उन्होंने बताया कि आरोपी महिला मीनाक्षी ऑनलाइन क्लास लेकर प्रोडक्ट के सेवन का तरीका बताती
है और योग भी कराती है। स्कूल संचालक का कहना है कि गिरोह ने उनकी तरह अन्य सैकड़ों लोगों
को भी ठगा है।
इस तरह लेते हैं झांसे में

रकम और प्रोडक्ट देने के बाद आरोपी पीड़ितों को ऑनलाइन क्लास में जोड़ते हैं। क्लास के दौरान
आरोपियों के अपने लोग भी शामिल होते हैं। वह उनसे कहलवाते हैं कि उनके प्रोडक्ट का सेवन करके
वह बीमारी से निजात पा चुके हैं। कोई कैंसर की बीमारी ठीक होने की बात कहता है तो कोई खुद
को पूर्व में गंजा बताकर बाल आने की बात कहता है। वह फिट इंडिया का प्रोडक्ट लेने की सलाह देते
हैं।
रसूखदारों से भी पहचान
पीड़ित स्कूल संचालक का कहना है कि गैंग में शामिल लोगों की पहचान रसूखदार लोगों से है। कोई
पीड़ित आरोपियों पर कार्रवाई कराने के लिए पुलिस के पास जाता है तो रसूखदार लोग पुलिस पर
कार्रवाई न करने का दबाव डालते हैं। पुलिस आसानी से कार्रवाई नहीं करती। स्कूल संचालक का
कहना है कि उनके साथ भी ऐसा ही हुआ। पुलिस के चक्कर काटने के बाज जैसे-तैसे उनकी रिपोर्ट
दर्ज हुई। सिहानी गेट एसएचओ नरेश कुमार शर्मा का कहना है कि शिकायत के आधार पर दो
महिलाओं समेत पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच कर आगे की
कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer