अमेरिकी ओपन : कैस्पर रूड और कार्लोस अल्काराज में होगा खिताबी मुकाबला

Advertisement

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता ) 

न्यूयॉर्क, 10 सितंबर  स्पेन के कार्लोस अल्काराज ने पांच सेट तक चले कड़े मुकाबले में
अमेरिका के फ्रांसिस टियाफो को हराकर अमेरिकी ओपन टेनिस टूर्नामेंट के पुरुष एकल के फाइनल में
जगह बनाई जहां उनका सामना नार्वे के कैस्पर रूड से होगा।
टियाफो ने कई सहज गलतियां की जिसका तीसरी वरीयता प्राप्त अल्काराज ने पूरा फायदा उठाया
और फ्लशिंग मीडोज में शुक्रवार की रात को 6-7 (6), 6-3, 6-1, 6-7 (5), 6-3 से जीत दर्ज करके
पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया।
इस जीत से अल्काराज़ 19 वर्ष की उम्र में दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी बनने की राह पर हैं लेकिन
इसके लिए उन्हें रूड की कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ेगा जो स्वयं खिताब जीतने पर विश्व
रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंच जाएंगे।
विश्व में सातवें नंबर के रूड ने पहले सेट में 55 शॉट तक चला पॉइंट जीतकर अपनी लय बरकरार
रखी और सेमीफाइनल में रूस के करेन खाचानोव को 7-6 (5), 6-2, 5-7, 6-2 से हराकर खिताबी
मुकाबले में जगह बनाई। नार्वे के 23 वर्षीय रूड ने वर्ष में दूसरी बार किसी ग्रैंड स्लैम प्रतियोगिता के
फाइनल में प्रवेश किया। वह जून में फ्रेंच ओपन के फाइनल में राफेल नडाल से हार गए थे।
रूड ने कहा, ‘‘रोला गैरां के बाद मैं वास्तव में बहुत खुश था लेकिन साथ ही यह भी सोच रहा था कि
यह मेरे कैरियर का एकमात्र ग्रैंड स्लैम फाइनल भी हो सकता है।’’

Advertisement

अल्काराज को क्वार्टर फाइनल में भी पांच सेट तक जूझना पड़ा था लेकिन उनमें थकान के कोई
लक्षण नहीं थे। उन्होंने टियाफो के खिलाफ महत्वपूर्ण अवसरों पर अंक बटोरे और अमेरिकी दर्शकों को
निराश किया। उन्होंने बाद में कहा,‘‘आपको कोर्ट पर अपना सब कुछ झोंक देना पड़ता है। फ्रांसिस ने
भी अपनी तरफ से कोई कसर नहीं छोड़ी थी।’’
अमेरिकी ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचने वाले चारों खिलाड़ी पहली बार इस टूर्नामेंट में इस मुकाम
पर पहुंचे थे। इसका मतलब है कि अमेरिकी ओपन में इस बार पुरुष एकल में नया चैंपियन सामने
आएगा।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer