पश्चिमी यूपी के जाट के नेता भूपेन्द्र चौधरी बने यूपी भाजपा अध्यक्ष, मौजूदा सरकार में हैं मंत्री

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता )

लखनऊ/नई दिल्ली, 25 अगस्त पांच महीनों की कशमकश के बाद आखिरकार बीजेपी को यूपी प्रदेश
अध्यक्ष का नाम ऐलान कर ही दिया। यूपी बीजेपी ने पश्चिम के जाट नेता और योगी सरकार में पंचायती राज मंत्री
भूपेंद्र चौधरी के नाम पर मुहर लगा दी है। उनके अध्यक्ष बनने के बाद से बधाईयों का सिलसिला शुरू हो गया है।
भूपेंद्र चौधरी मुरादाबाद के रहने वाले हैं।
दरअसल, भूपेंद्र चौधरी ने बुधवार को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से दिल्ली में मुलाकात की थी। भूपेंद्र
चौधरी बुधवार को आजमगढ़ में सरकारी कार्यक्रम बीच में छोड़कर दिल्ली रवाना हो गए थे, जहां जेपी नड्डा समेत
बीजेपी और आरएसएस के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की। सूत्रों की माने तो भूपेंद्र चौधरी को प्रदेश अध्यक्ष बनाने
की सहमति राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भी दी थी।
जाट बाहुल इलाकों में बीजेपी को मिल सकता है फायदा
भूपेंद्र सिंह चौधरी को यह जिम्मेदारी मिलने के बाद पश्चिमी यूपी की तकरीबन सात जाट बाहुल लोकसभा सीटों पर
भाजपा को फायदा हो सकता है। इसी के साथ प्रदेश में भी पिछड़े वोट बैंक को साधने में पार्टी को काफी अधिक
मदद मिल सकेगी। चौधरी अमित शाह के भी काफी करीबीी है और पुराने स्वंय सेवक भी है। बुधवार को उनको
आनन-फानन में दिल्ली बुलाए जाने के बाद चर्चाएं काफी तेज हैं। वहीं उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को भी इस
दौड़ में शामिल माना जा रहा है।
जानें कौन हैं भूपेंद्र चौधरी?
भूपेंद्र सिंह चौधरी की अपनी एक अलग जाट नेता के रूप में पहचान है। पश्चिमी यूपी में उनकी धाक है। वह
पश्चिमी यूपी के बड़े जाट नेता मानें जाते हैं। कहा जाता है कि जब किसान आंदोलन के समय जाटों में सरकार को
लेकर नाराजगी थी, तो भूपेंद्र सिंह चौधरी ने उस नाराजगी को दूर करने में अहम भूमिका निभाई थी। इन्हीं की
मेहनत का नतीजा रहा कि पूर्वांचल से अच्छा भाजपा ने पश्चिमी यूपी में विधानसभा चुनाव में प्रदर्शन किया।
भूपेंद्र चौधरी अमित शाह के करीबी माने जाते हैं। आरएसएस की पृष्ठभूमि से आने वाले भूपेंद्र चौधरी बीजेपी के
पश्चिम क्षेत्र के क्षेत्रीय अध्यक्ष भी रहे हैं। भूपेंद्र चौधरी ने विश्व हिंदू परिषद से अपनी राजनीति शुरू की थी।

Leave a Comment