दबाव की स्थिति में खेलने को लेकर था उत्साहित : सैमसन

Advertisement

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता )

Advertisement

हरारे, 22 अगस्त भारत के विकेटकीपर-बल्लेबाज संजू सैमसन ने खुलासा किया कि उन्हें जिम्बाब्वे के
खिलाफ दूसरे वनडे मैच में दबाव की स्थिति का सामना करना पड़ा, क्योंकि पिच पर बल्लेबाजी करने के लिए
उनके पास ज्यादा समय नहीं था।
उस मैच में, जहां भारत 162 रनों का पीछा करते हुए 97/4 था, सैमसन ने 39 गेंदों में 43 रन बनाकर नाबाद
तीन चौके और चार छक्के लगाए और दीपक हुड्डा (25) के साथ 56 रन की साझेदारी की। जिससे, 146 गेंद शेष
रहते मैच भारत ने मैच अपने नाम कर लिया। उन्होंने प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार भी मिला क्योंकि भारत ने
तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 अजेय बढ़त हासिल की।
सैमसन ने कहा, मेरे पास मैच के बीच में ज्यादा समय नहीं था, इसलिए मैं खुद को एक दबाव (स्थिति) में
परखना चाहता था। मैं वास्तव में दबाव की स्थिति में खेलने को लेकर उत्साहित था और वे अच्छे बाउंसर के साथ
अच्छी गेंदबाजी भी कर रहे थे। मुझे वास्तव में मजा आया।
2015 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू और 2021 में वनडे क्रिकेट में डेब्यू के बावजूद, सैमसन काफी हद तक
राष्ट्रीय टीम से अंदर और बाहर होते रहे हैं। राष्ट्रीय टीम के अंदर और बाहर आने के दौरान उनकी भावनाओं के
बारे में पूछे जाने पर, सैमसन ने बताया, मैं इतना नहीं सोचता हूं, लेकिन आप अपने करियर में जो कुछ भी करते
हैं, आपको उसे सकारात्मक तरीके से लेना होता है।
उन्होंने आगे कहा, लेकिन मुझे उस समय में उन घरेलू मैचों को खेलने में बहुत मजा आया। मुझे पिछले चार-पांच
वर्षों में घरेलू क्रिकेट खेलने में बहुत मजा आया। वहां अच्छा प्रदर्शन करना चुनौतीपूर्ण है और इसने मुझे एक बेहतर
खिलाड़ी बनने में मदद मिली है।
सैमसन ने खेल के बारे में अपने दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने के लिए आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स के साथ अपनी
कप्तानी के कार्यकाल को श्रेय दिया। 27 वर्षीय सैमसन ने भारत का समर्थन करने वाले प्रशंसकों का आभार व्यक्त
करते कहा कि जहां भी वे दौरे पर जाते हैं, खासकर अपने गृह राज्य केरल के लोग उन्हें समर्थन करते हैं, जिसके
लिए मैं उनका आभारी हूं।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer