एनजीओ मालिक ने महिला का करवाया गैंगरेप, वेश्यावृत्ति के लिए किया मजबूर

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता )

बेंगलुरू, 21 अगस्त  कर्नाटक पुलिस ने एक गैर सरकारी संगठन के मालिक और उसके दो सहयोगियों
को गिरफ्तार किया है। इन पर एक 25 वर्षीय महिला को जबरन देह व्यापार में धकेलने और उसके साथ सामूहिक
दुष्कर्म करने का आरोप है। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी।
गिरफ्तार लोगों की पहचान राजाजीनगर निवासी 36 वर्षीय के. लक्ष्मी उर्फ संगीतप्रिय उर्फ मंजुला, कोलार के पास
मलूर निवासी ब्रिजेन्द्र रावण (26) और शेषाद्रिपुरम में एक लॉज के मालिक संतोषकुमार (45) के रूप में हुई है।
आरोपी नव भारत नाम से एक एनजीओ चलाता है। पीड़िता का परिचय कुछ दिन पहले हुआ था। आरोपी ने उसे
नौकरी देने का वादा किया और उसे शिवानंद सर्कल के एक लॉज में ले गया और बंद कर दिया।
देह व्यापार में शामिल होने के लिए पीड़िता को जबरन प्रताड़ित किया जाता था, पीटा जाता था। हालांकि, पीड़िता
किसी तरह अपने दोस्त से संपर्क करने में सफल रही और उसने अपनी आपबीती बताई।
पुलिस ने लॉज में छापेमारी की और बाद में महिला को छुड़ा लिया। पीड़िता ने खुलासा किया कि आरोपी द्वारा
लॉज भेजे गए लोगों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

पुलिस ने आईपीसी की धारा 370 और अनैतिक व्यापार रोकथाम अधिनियम, 1956 के तहत मामला दर्ज किया है।
पुलिस ने कहा कि वे उन लोगों को भी गिरफ्तार करेंगे जिन्होंने महिला से सामूहिक बलात्कार किया। पुलिस ने
आगे की जांच शुरू कर दी है।

Leave a Comment