खनन पर रोक लगाने की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन के बीच एक साधु ने आत्मदाह का किया प्रयास

Advertisement

बृज 84 में अँधाधुंध सरकारी अवैध खनन जारी, साधु संत कर रहे 550 दिन से विरोध, एक  साधु ने किया आत्मदाह

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता)

जयपुर, 20 जुलाई । राजस्थान के डीग क्षेत्र में खनन के विरोध में साधुओं के आंदोलन के बीच एक साधु
ने बुधवार को आत्मदाह का प्रयास किया।
पुलिस के अनुसार घटना डीग की है और घायल साधु को भरतपुर के अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।
खो क्षेत्र के थानाधिकारी विनोद कुमार ने बताया कि धरना स्थल से दूर खड़े एक साधु विजय दत्त ने बुधवार को
अचानक ज्वलनशील पदार्थ छिड़ककर खुद को आग लगा दी। पुलिस वाले उसे बचाने दौड़े और आग बुझाकर उन्हें
जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया। कुमार के मुताबिक साधु की हालत स्थिर है।
इस बीच, खनन रोकने की मांग को लेकर मोबाइल टावर पर चढ़े साधु नारायण दास बुधवार को नीचे उतर आए हैं।
थानाधिकारी ने बताया कि साधु नारायण दास इलाके में खनन पर प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर पिछले कुछ
दिनों से डीग में धरना दे रहे थे, उनके साथ कुछ और संत भी धरने पर थे।

उन्होंने बताया कि साधु नारायण दास अपनी मांगों को लेकर प्रशासन पर दबाव बनाने के लिए मंगलवार सुबह
मोबाइल टावर पर चढ़ गए थे।
उन्होंने बताया कि प्रशासनिक अधिकारी मौके पर मौजूद हैं और आंदोलनकारी साधुओं से बातचीत चल रही है।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer