जातीय नेता तख्तापलट की कोशिश कर रहे : इक्वाडोर के राष्ट्रपति

Advertisement

 

 

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता)

Advertisement

क्विटो, 25 जून इक्वाडोर के राष्ट्रपति ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि देशव्यापी हड़ताल का नेतृत्व
कर रहे जातीय नेता तख्तापलट की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने चेतावनी दी कि वह प्रदर्शनों के दौरान होने वाली
हिंसा को रोकने के लिए सभी कानूनी उपायों का इस्तेमाल करेंगे।
राष्ट्रपति गुइलेर्मो लासो ने टेलीविजन पर प्रसारित अपनी टिप्पणी में कहा कि जातीय लोगों के परिसंघ के नेता
लियोनिदास इजा ‘‘उनकी सरकार को सत्ता से उखाड़ फेंकने’’ का इरादा रखते हैं। हालांकि, लासो ने कहा कि वह 13
दिन से जारी विरोध प्रदर्शनों को समाप्त करने के लिए बातचीत में शामिल होने के लिए तैयार हैं।
उन्होंने कहा, ‘‘यह साबित हो गया है कि हिंस कर रहे लोगों का असली इरादा तख्तापलट करना है। इसलिए हम
अंतरराष्ट्रीय समुदाय से इक्वाडोर में लोकतंत्र को अस्थिर करने के इस प्रयास के खिलाफ चेतावनी जारी करने का
आह्वान करते हैं।’’
लासो ने कहा, ‘‘…इजा अब स्थिति को नियंत्रित नहीं कर सकते। घुसपैठियों द्वारा शुरू की गई हिंसा अब हाथ से
निकल चुकी है।’’
प्रदर्शन एक राष्ट्रव्यापी हड़ताल का हिस्सा है, जिसकी शुरुआत जातीय लोगों के परिसंघ ने 14 जून को की थी।
परिसंघ गैसोलीन की कीमतों में 45 सेंट प्रति गैलन की कटौती कर उसे 2.10 अमेरिकी डॉलर किए जाने, कृषि
उत्पादों पर मूल्य नियंत्रण लागू करने और शिक्षा के लिए एक बड़ा बजट निर्धारित करने की मांग को लेकर प्रदर्शन
कर रहा है।

दक्षिण अमेरिकी देश के उत्तर-मध्य भाग के छह प्रांतों में विरोध-प्रदर्शन विशेष रूप से हिंसक रूप अख्तियार कर रहे
हैं।
परिसंघ ने बृहस्पतिवार को बताया कि क्विटो में नेशनल असेंबली के पास विरोध-प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से
एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई और लगभग 100 अन्य लोग घायल हो गए। पुलिस ने ट्वीट किया कि पैलेट गन
से अधिकारी भी घायल हुए हैं।
हिंसा के कारण जर्मनी, ब्रिटेन, कनाडा और अमेरिका सहित कई देशों के दूतावासों ने ‘‘अपने-अपने नागरिकों के
मौलिक अधिकारों’’ के बारे में चिंता जताते हुए एक सार्वजनिक बयान जारी किया। अमेरिकी विदेश विभाग ने
बुधवार को एक परामर्श जारी कर यात्रियों को प्रदर्शनों को लेकर चेतावनी दी थी।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer