एशियाई खेल और विश्व चैंपियनशिप में एक माह का अंतर रहने पर दोनों में भाग लूंगा : बजरंग

Advertisement

 

 

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता)

नई दिल्ली, 25 जून । भारत के शीर्ष पहलवान बजरंग पुनिया ने शनिवार को कहा कि अगर स्थगित
किये गये एशियाई खेल और विश्व चैंपियनशिप के बीच कम से कम एक महीने का अंतर होता है तो वह अगले
साल इन दोनों प्रतियोगिताओं में भाग लेंगे।
चीन में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण एशियाई खेल 2022 को स्थगित कर दिया गया था और आयोजकों
ने अभी तक इस महाद्वीपीय प्रतियोगिता की नई तारीखों की घोषणा नहीं की है।
विश्व चैंपियनशिप सितंबर 2023 में रूस में होगी और वह ओलंपिक क्वालीफाइंग प्रतियोगिता है।
बजरंग ने भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) के सम्मान समारोह के दौरान वर्चुअल बातचीत में कहा, ‘‘2023
महत्वपूर्ण वर्ष है। मेरा लक्ष्य विश्व चैंपियनशिप से पेरिस खेलों के लिये क्वालीफाई करना रहेगा। हमें अभी नहीं
पता कि एशियाई खेलों और विश्व चैंपियनशिप के बीच कितना अंतर रहेगा।’’
उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन यदि दोनों के बीच एक या डेढ़ महीने का समय होता है, तो मैं दोनों में भाग लूंगा।’’
तोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाले 28 वर्षीय बजरंग पिछली गलतियों से परेशान नहीं होना चाहते हैं और
अपना ध्यान पेरिस ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने पर लगाना चाहते हैं।
उन्होंने कहा, ‘‘मैं चोटिल हो गया था और ओलंपिक के बाद आठ महीनों तक इससे उबर रहा था। ओलंपिक किसी
भी खिलाड़ी के लिये महत्वपूर्ण होते हैं। स्वर्ण नहीं जीत पाना झटका था लेकिन फिर भी मैंने कांस्य पदक जीता।
विश्व में 65 किग्रा सबसे मुश्किल भार वर्ग है।’’
बजरंग ने कहा, ‘‘ओलंपिक पदक जीतने के बाद मैं जरा भी नहीं बदला हूं। मेरा लक्ष्य 2024 में बेहतर प्रदर्शन
करना है। मैं फिर से अभ्यास कर रहा हूं। भारत ने पिछले चार ओलंपिक में कुश्ती में पदक जीते हैं। कांस्य और
रजत जीते हैं लेकिन स्वर्ण नहीं। पेरिस खेलों के लिये मेरा यही लक्ष्य है।’’
उन्होंने कहा, ‘‘हमें गलतियों को भूलकर, उनसे सीख लेकर आगे बढ़ना है। जीत और हार किसी भी खिलाड़ी के
जीवन का हिस्सा होते हैं। हमें दोनों को स्वीकार करना होगा।’’
बजरंग राष्ट्रमंडल खेलों की तैयारियों के सिलसिले में रविवार को अमेरिका रवाना होंगे। विश्व चैंपियनशिप के पदक
विजेता ने कहा कि जब वह बाहर अभ्यास करते हैं तो उन्हें अभ्यास के लिये बेहतर साथी मिल जाता है।
उन्होंने कहा, ‘‘मैं मिशिगन विश्वविद्यालय में अभ्यास करूंगा। कई शीर्ष पहलवान वहां अभ्यास करते हैं। जैसे मैं
70 किग्रा में दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी (एर्नाजर अकमातालिव, किर्गिस्तान) के साथ अभ्यास करूंगा। ओलंपिक
में 86 किग्रा का पदक विजेता भी वहां होगा। इसलिए मुझे वहां अभ्यास करना पसंद है।’’

Advertisement

ईस्टबॉर्न इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची पेट्रा क्वितोवा
लंदन, 25 जून (वेब वार्ता)। चेक गणराज्य की स्टार महिला टेनिस खिलाड़ी पेट्रा क्वितोवा ने ईस्टबॉर्न इंटरनेशनल
टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश कर लिया है। क्वितोवा ने शुक्रवार को रोथेसे इंटरनेशनल में खेले गए
सेमीफाइनल मुकाबले में ब्राजील की बीट्रिज हद्दाद मैया को हराकर फाइनल में प्रवेश किया।
विश्व के 14वें नंबर की खिलाड़ी क्वितोवा ने 2 घंटे से भी कम समय में 15वीं वरीय हद्दाद मैया को 7-6(5), 6-4
से हराकर दूसरी बार ईस्टबोर्न फाइनल में प्रवेश किया।
मैच के पहले सेट में दोनों खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और पहला सेट आसानी से टाईब्रेक तक पहुंच गया।
टाईब्रेक में क्वितोवा के मजबूत फोरहैंड के सामने बीट्रिज की एक न चली और क्वितोवा ने टाईब्रेक में 7-6 से जीत
दर्ज की।
दूसरे सेट में क्वितोवा को ज्यादा परेशानी नहीं हुई और उन्होंने दूसरा सेट आसानी से 6-4 से जीतकर फाइनल में
प्रवेश किया।

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला में लगातार तीन शतक लगाने वाले न्यूजीलैंड के पहले बल्लेबाज बने डेरिल मिचेल
लीड्स, 25 जून (वेब वार्ता)। न्यूजीलैंड के हरफनमौला खिलाड़ी डेरिल मिचेल ने इंग्लैंड के खिलाफ जारी तीसरे टेस्ट
मैच में एक ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल कर ली है। मिचेल इंग्लैंड के खिलाफ श्रृंखला में लगातार तीन शतक
लगाने वाले न्यूजीलैंड के पहले बल्लेबाज बन गए।
मिशेल ने शुक्रवार को लीड्स के हेडिंग्ले में इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे और अंतिम टेस्ट के दौरान यह उपलब्धि
हासिल की।
पहली पारी में, मिचेल ने 28 गेंदों में नौ चौकों और तीन छक्कों की मदद से 109 रन बनाए। इस शतक के साथ
ही वह तीन या अधिक टेस्ट मैचों की श्रृंखला के प्रत्येक मैच में शतक बनाने वाले कुल मिलाकर नौवें खिलाड़ी बन
गए। वह अब केन बैरिंगटन, शोएब मोहम्मद, मैथ्यू हेडन, जैक्स कैलिस, मोहम्मद यूसुफ, रॉस टेलर, स्टीव स्मिथ
और विराट कोहली जैसे बल्लेबाजों की सूची में शामिल हो गए हैं।

मिचेल अब तक सीरीज में शानदार फॉर्म में हैं। पांच पारियों में मिशेल ने 120.5 की औसत से 482 रन बनाए हैं।
190 के सर्वश्रेष्ठ स्कोर के साथ उनके बल्ले से तीन शतक और एक अर्धशतक निकला है।
मैच की बात करें तो इस मुकाबले में इंग्लैंड ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने पर 6 विकेट पर 264 बनाए लिए हैं।
जॉनी बेयरस्टो ने शानदार शतकीय पारी खेलते हुए 130 रन बनाकर नाबाद हैं। उनके साथ जेमी ओवर्टन 89 रन
बनाकर नाबाद हैं।
इससे पहले न्यूजीलैंड की टीम अपनी पहली पारी में 329 रन पर सिमट गई। न्यूजीलैंड की तरफ से डेरिल मिचेल
ने 109 और टॉम ब्लंडेन ने 55 रन बनाए।

Leave a Comment

Advertisement
What does "money" mean to you?
  • Add your answer