बर्मिंघम में कांस्य पदक हासिल करना हमारे लिए एक बड़ी उपलब्धि : दीप ग्रेस एक्का

विनीत माहेश्वरी (संवाददाता )

बेंगलुरु, 30 अगस्त  भारतीय महिला हॉकी टीम ने हाल ही में संपन्न बर्मिंघम 2022
राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य पदक हासिल किया। इसके बाद टीम एक छोटे से ब्रेक पर गई और अब
बेंगलुरु में भारतीय खेल प्राधिकरण के परिसर में एकत्र हुई है।
भारतीय महिला हॉकी टीम का ध्यान अब 10 दिसंबर से स्पेन के वालेंसिया में शुरू हो रहे महत्वपूर्ण
एफआईएच महिला हॉकी नेशन कप पर होगा। डिफेंडर दीप ग्रेस एक्का को लगता है कि बर्मिंघम
2022 राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य पदक हासिल करना टीम की यात्रा का एक महत्वपूर्ण क्षण है।
उन्होंने कहा, हम निश्चित रूप से बर्मिंघम में फाइनल खेलना पसंद करते, लेकिन कांस्य जीतना
हमारे लिए एक बड़ी उपलब्धि थी। पोडियम पर खड़ा होना एक ऐसा पल है जिसे हम कभी नहीं भूल
पाएंगे। यह पूरी टीम के लिए एक बड़ा मनोबल बढ़ाने वाला है।"
भारतीय डिफेंडर्स दीप ग्रेस एक्का को उम्मीद है कि टीम आगे भी अपनी गति को बनाए रख सकती
है। बेंगलुरू में राष्ट्रीय शिविर में लौटने पर उन्होंने कहा, "हमने बर्मिंघम में अच्छा प्रदर्शन किया,
लेकिन अब यह एक बंद अध्याय है। हमने अच्छा ब्रेक लिया है और अब हमें काम पर वापस जाना
है। मुझे यकीन है कि मुख्य कोच जननेके शोपमैन हमारे पिछले प्रदर्शन का आकलन करेंगे और उसी
के अनुसार शिविर में आने वाले दिनों की योजना बनाएंगे।"
वर्तमान में सविता की कप्तानी वाली भारतीय महिला हॉकी टीम अपने अगले आउटिंग से पहले एक
लंबे शिविर के लिए तैयार है और अनुभवी डिफेंडर को अपने अगले असाइनमेंट से पहले कड़ी मेहनत
करने की उम्मीद है। उन्होंने कहा, "हमें स्पेन में होने वाले एफआईएच महिला हॉकी नेशंस कप में
अच्छा प्रदर्शन करना है और इसके लिए तैयारी आज से शुरू हो रही है। यह आसान नहीं होगा,
लेकिन कठिन प्रशिक्षण और हमारे सत्रों के दौरान हम सारी चीजें सही कर सकते हैं।"
स्पेन में एक सप्ताह तक चलने वाले इस टूर्नामेंट के विजेता टीम को एफआईएच हॉकी प्रो लीग
(महिला) में सीधा प्रवेश मिलेगा। भारतीय महिला हॉकी टीम एफआईएच हॉकी प्रो लीग 2021/22
सीज़न में अपने पहले अभियान में तीसरे स्थान पर रही थी। उन्होंने कहा, "स्पेन में हमारा उद्देश्य
एफआईएच हॉकी महिला प्रो लीग के लिए क्वालीफाई करना होगा और इसके लिए हमें नेशन कप
जीतना होगा। हमारा लक्ष्य हमारे सामने है, अब यह हम पर निर्भर है कि हम सही दिशा में आगे
बढ़ें।"